बेंगलुरु: भाजपा सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े (Anant Kumar Hegde) का ट्विटर हैंडल ब्लॉक कर दिया गया है. अनंत कुमार हेगड़े ने इस पर कहा कि इस माइक्रो ब्लॉगिंग साइट पर ‘भारत विरोधी रुख’ अपनाया जा रहा है. इसके साथ ही ‘पूर्वाग्रह से ग्रस्त इरादों से’ काम किया जा रहा है. उत्तर कन्नड़ से बीजेपी सांसद हेगड़े ने ट्विटर पर ‘डिजिटल उपनिवेशवाद’ के संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भी लिखा है. और ट्विटर की शिकायत करते हुए जांच की मांग की है. हेगड़े ने फेसबुक पर अपने पोस्ट में कहा कि उन्होंने एक खालिस्तान समर्थक और ‘भारत में तबलीगी जमात की मुहिम के छिपे एजेंडे’ की बात कहते हुए कई पोस्ट की थी. इसके साथ ही हेगड़े ने खालिस्तान के गठन के माध्यम से पंजाब की आजादी की वकालत करने वाले गुरुपतवंत सिंह पन्नून के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा गृह मंत्री अमित शाह को 20 अप्रैल को पत्र लिखा था. Also Read - NDA 2.0 Govt: मोदी सरकार 2.0 के एक साल हुए पूरे, क्या आपने ने भी सुना पीएम का यह Audio Message

सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने आरोप लगाया, ‘मेरे इन दो बड़े कदमों के परिणामस्वरूप ट्विटर इंडिया ने 24 अप्रैल, 2020 को मेरा आधिकारिक ट्विटर अकाउंट ब्लॉक कर दिया.’ उन्होंने ट्विटर से आया वह संदेश भी साझा किया जिसमें उनसे उन ट्वीट को डिलीट करने को कहा गया जो कथित तौर पर उसके नियमों का उल्लंघन करते हैं. Also Read - दैनिक वेतन भोगियों के लिए पैसे इकट्ठे करने के लिए वर्चुअल डेटिंग करेंगी बॉलीवुड की ये मशहूर एक्ट्रेस

संदेश में ट्विटर ने यह भी कहा कि यदि उन्हें ऐसा लगता है कि कंपनी से इसमें कहीं कोई गलती हुई है तो वह इसके खिलाफ अपील कर सकते हैं. हेगड़े ने कहा कि वह ट्वीट डिलीट नहीं करेंगे ‘क्योंकि यह एक धर्म की आड़ में किए जा रहे गलत काम को सामने लाने के लिए है.’ उन्होंने कहा, ‘निस्संदेह मैं किसी धर्म के खिलाफ नहीं हूं लेकिन एक भारतीय होने के नाते मैं किसी व्यक्ति या संगठन को नफरत फैलाने या राष्ट्र विरोधी अथवा असामाजिक गतिविधि में शामिल होने के लिए लोगों को उकसाने की इजाजत नहीं दूंगा. मैं अपने बयान पर कायम हूं और इसका मजबूती के साथ बचाव करूंगा.’ Also Read - NDA 2.0 Govt: कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई लंबी है लेकिन हम विजय पथ पर चल पड़े हैं : पीएम मोदी

हेगड़े ने इस मामले शिकायत पीएम मोदी से भी की है. उन्होंने कहा कि ट्विटर के खिलाफ शनिवार को पत्र लिखा था जिसमें उन्होंने कहा था कि वह कई राष्ट्रीय हैंडल, भारत समर्थक हैंडलों को चुनिंदा रूप से निशाना बना रही है, उन्हें निलंबित कर रही है या ब्लॉक कर रही हैं. यह बीते कुछ महीनों से किया जा रहा है. उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि कई दिग्गजों के ट्विटर अकाउंट बिना किसी पूर्व सूचना के निलंबित कर दिए गए. हेगड़े ने यह भी आरोप लगाया कि कुछ ट्विटर हैंडल अपने आर्थिक हितों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साध रहे हैं. उन्होंने इस संबंध में ट्विटर के खिलाफ जांच की मांग की.