नई दिल्‍ली: पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा सांसद बंडारू दत्तात्रेय के 21 वर्षीय बेटे बंडारू वैष्णव की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई. एमबीबीएस थर्ड इयर के छात्र वैष्णव को मंगलवार शाम सीने में दर्द की शिकायत के बाद सिकंदराबाद के गुरु नानक हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. जहां इलाज के दौरान बुधवार तड़के उनका निधन हो गया. हालांकि मौत के कारण का सही पता नहीं चल पाया है. अस्पताल की ओर से मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद सही कारणों का पता चलेगा.

 

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक वैष्णव की मौत हार्ट अटैक से हुई है. डॉक्टरी की पढ़ाई कर रहे बंडारू वैष्णव को सीने में शिकायत के बाद शनिवार शाम को सिकंदराबाद के गुरु नानक अस्पताल में भर्ती कराया गया, वैष्णव MBBS की तीसरे साल की पढ़ाई कर रहा था. बता दें कि आंध्र प्रदेश/तेलंगाना में बीजेपी को स्थापित करने में बंडारू दत्तात्रेय की अहम भूमिका रही है. 71 वर्षीय बंडारू दत्तात्रेय फिलहाल तेलंगाना के सिकंदराबाद से सांसद हैं. केंद्र की मौजूदा मोदी सरकार में बंडारू दत्तात्रेय एक सितंबर 2017 तक श्रम एवं रोजगार मंत्री भी थे. इसके अलावा अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में भी वे केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं.