नई दिल्ली: भाजपा सांसद और एनडीए उम्मीदवार ओम बिरला को बुधवार को सर्वसम्मति से लोकसभा अध्यक्ष चुन लिया गया. पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा रखे गए और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा अनुमोदित प्रस्ताव को सदन द्वारा ध्वनिमत से स्वीकार किए जाने के बाद कार्यवाहक अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार ने बिरला के अध्यक्ष के रूप में निर्वाचन की घोषणा की. बता दें कि ओम बिरला राजस्थान के कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र से लगातार दूसरी बार निर्वाचित हुए हैं

इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सदन में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी समेत अन्य दलों के नेता बिरला को अध्यक्ष के आसन तक लेकर गए. इस दौरान पूरे सदन ने लंबे समय तक ताली बजाकर और मेजें थपथपाकर नए अध्यक्ष का अभिनंदन किया.

भाजपा ने इस प्रतिष्ठित पद के लिए सबको चौंकाते हुए बिड़ला को नामित किया था. संसद में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिड़ला के निर्विरोध निर्वाचन को महान गर्व का विषय बताया. मोदी ने कहा, “सदन के लिए यह महान गर्व की बात है. सर्वसम्मति से लोकसभा अध्यक्ष चुने जाने पर हम बिड़ला जी को बधाई देते हैं. कई सांसद बिड़ला जी को अच्छी तरह जानते हैं. उन्होंने राजस्थान में भी अपनी सेवाएं दी हैं.”

मोदी ने कहा, “मुझे व्यक्तिगत रूप से लंबे समय तक बिड़ला जी के साथ काम करने का अनुभव याद है. वे कोटा के प्रतिनिधि हैं. शिक्षा और अध्ययन की भूमि कोटा मिनी इंडिया है. वे कई सालों से सार्वजनिक जीवन में हैं. उन्होंने छात्र नेता के रूप में शुरुआत की तब से निर्बाध रूप से समाजसेवा कर रहे हैं. ”

बिरला को अध्यक्ष के आसन तक ले जाने में द्रमुक के टी.आर. बालू, तृणमूल कांग्रेस के सुदीप बंदोपाध्याय, बीजेडी के पिनाकी मिश्रा और लोजपा के चिराग पासवान आदि भी शामिल थे. बिरला के अध्यक्ष के रूप में निर्वाचन के लिए प्रधानमंत्री के अलावा गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, शिवसेना के अरविंद सावंत, बीजद के पिनाकी मिश्रा, अकाली दल के सुखबीर बादल, जदयू के राजीव रंजन, केंद्रीय मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा, प्रहलाद जोशी, कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी, द्रमुक के टी आर बालू और तृणमूल कांग्रेस के सुदीप बंदोपाध्याय ने प्रस्ताव रखे.

इन प्रस्तावों का क्रमश: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, रमेश पोखरियाल निशंक, शिवसेना के विनायक राउत, बीजद के अच्युतानंद सामंत, लोजपा के चिराग पासवान, अपना दल की अनुप्रिया पटेल, वाईएसआर कांग्रेस के पी वी मिथुन रेड्डी, अन्नाद्रमुक के पी रवींद्रनाथ कुमार, द्रमुक के बालू, कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी और तेलंगाना राष्ट्र समिति के नामा नागेश्वर राव ने समर्थन किया.

संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने 17वीं लोकसभा के पहले दो दिन का कामकाज सुगमता से चलाने के लिए कार्यवाहक अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार और उनके पैनल में शामिल कांग्रेस के के.सुरेश, बीजद के बी महताब और भाजपा के ब्रजभूषण शरण सिंह का आभार जताया. जोशी ने लोकसभा महासचिव स्नेहलता श्रीवास्तव का भी धन्यवाद जताया.