नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में वामपंथी विचारधारा के हावी होने और इसे दूर करने को लेकर अक्सर भारतीय जनता पार्टी और विपक्षी दलों के नेताओं के बयान चर्चा का विषय बनते रहते हैं. जेएनयू छात्रसंघ के नेता कन्हैया कुमार को लेकर उठे ‘देश विरोधी नारे’ के विवाद के बाद से ही यह विश्वप्रसिद्ध यूनिवर्सिटी, सत्ताधारी दल के नेताओं के निशाने पर रही है. पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार के पहले कार्यकाल से चला आ रहा यह चलन, मोदी 2.0 सरकार में भी जारी है. अब दिल्ली से भाजपा सांसद हंसराज हंस (Hans Raj Hans) के ताजा बयान ने इस रवैये को और हवा दे दी है. हंसराज हंस ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने और विशेष राज्य का दर्जा खत्म किए जाने के मामले पर दिए अपने एक भाषण में इस यूनिवर्सिटी का नाम बदलने की सलाह दी है. हंस ने कहा है कि जेएनयू का नाम पीएम मोदी के नाम पर रखा जाना चाहिए.

उत्तर पश्चिमी दिल्ली से भाजपा के सांसद हंसराज हंस ने शनिवार को जेएनयू में हुए एक कार्यक्रम के दौरान यह बयान दिया. वे जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने को लेकर अपनी बात रख रहे थे. उन्होंने कश्मीर समस्या को पुरानी गलती करार देते हुए परोक्ष रूप से कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा. हंसराज हंस ने कहा, ‘दुआ करो सब अमन में रहें, बम न चले…, हमारे बुजुर्गों ने गलतियां की हैं, हम भुगत रहे हैं.’ देश में सूफी गायक के रूप में चर्चित हंसराज हंस ने अपने संबोधन के दौरान जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय का नाम बदलने की सलाह दी.

भाजपा सांसद ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय का नाम पीएम नरेंद्र मोदी के नाम पर रखने की सलाह दी. उन्होंने अपने संबोधन के दौरान कहा, ‘मैं कहता हूं इस यूनिवर्सिटी (JNU) का नाम MNU कर दो, मोदी जी के नाम पे भी तो कुछ होना चाहिए.’ आपको बता दें कि हंसराज हंस लंबे अर्से से राजनीति में हैं. उन्होंने पहले शिरोमणि अकाली दल की सदस्यता ली, लेकिन कुछ दिनों बाद कांग्रेस में शामिल हो गए. 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया. सूफी गायक हंसराज हंस को भाजपा ने पश्चिमी दिल्ली से दलित नेता उदित राज की जगह लोकसभा का उम्मीदवार बनाया. पीएम मोदी की नेतृत्व क्षमता से प्रभावित हंसराज हंस ने दिल्ली में हुए एमसीडी चुनाव के दौरान भी भाजपा के लिए प्रचार किया था. उन्होंने पीएम मोदी को लेकर एक गाना भी बनाया था, जो एमसीडी चुनाव के दौरान भाजपा की तरफ से खूब बजाया गया था.