नई दिल्ली. लोकसभा में #NoConfidenceMotion के चर्चा के दौरान बीजेपी ने इसे तीन महत्वपूर्ण राज्य जहां इस साल चुनाव होने हैं से जोड़ दिया है. बीजेपी की तरफ से बोलते हुए जबलपुर के सांसद राकेश सिंह ने तीनों राज्यों में बीजेपी सरकार द्वारा किए गए कामों को बताया. बता दें कि इस साल राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में चुनाव होने हैं. खास बात है इससे पहले साल 2003 में अविश्वास प्रस्ताव आया था और उस समय भी इन्हीं तीनों राज्य में चुनाव होने थे. Also Read - Coronavirus in Chhattisgarh Update: 93 नए मामलों के साथ संक्रमितों की संख्या 773 हुई, जानें कहां कितने मरीज

मध्यप्रदेश
मध्यप्रदेश का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि साल 2003 में वहां विकास के नाम पर कुछ नहीं था. लेकिन शिवराज सिंह चौहान ने कृषि विकास दर को 3 फीसदी से 20 फीसदी तक बढ़ा दिया. उन्होंने कहा कि पहले 7 लाख हेक्टेयर सिंचित होता था जो अब 40 लाख हेक्टेयर तक पहुंच गया है. साल 2003 में बिजली उत्पादन 2000 मेगावाट अब 18 हजार से ज्यादा हो गया है. आर्थिक प्रगति के पैमाने पर 14 हजार रुपये प्रति व्यक्ति आय 80 हजार पर पहुंच गई. राज्य का बजट भी आज 1लाख 85 हजार से ज्यादा हो गया. Also Read - राजस्थान: अब कोरोना संक्रमित व्यक्ति के घर के आस-पास लगेगा कर्फ्यू, जानें क्या होंगे नियम

राजस्थान
राकेश सिंह ने कहा कि सबको समझना होगा की भारतीय जनता पार्टी की सरकार के मायने क्या हैं. उन्होंने राजस्थान में वशुंधरा राजे सिंधिया द्वारा मूलभूत समस्या पर ध्यान देने और बिजली, पानी और सड़क जैसी समस्याओं पर काम करने के बारे में बताया. इतना ही नहीं युवाओं, किसनों और पिछड़ों के लिए किए गए काम को भी बताया. Also Read - इस राज्य में लॉकडाउन के पांचवें चरण में भी सार्वजनिक परिवहन पर पूरी तरह से लगा रहेगा प्रतिबंध

छत्तीसगढ़
राकेश सिंह ने छत्तीसगढ़ में बढ़ते प्रति व्यक्ति आय, बिजली उत्पादन, कृषि उत्पादन जैसे मुद्दे पर अपनी बात रखी, उन्होंने बताया कि शिक्षा, सड़क, अनुसुचित जाति-जनजाति और मेडिकल कॉलेज पर बात की.

जबलपुर से सांसद हैं राकेश सिंह
बता दें कि जबलपुर से तीसरी बार सांसद चुने गए राकेश सिंह मध्य प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष भी हैं. उन्हें इसी साल अप्रैल महीने में इस पद पर नियुक्त किया गया था.राकेश सिंह पहली बार 2004 में सांसद चुने गए थे. अपने लोकसभा क्षेत्र में लोकप्रिय सिंह को अच्छा संगठक माना जाता है. इसीलिए, राज्य में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर प्रदेश भाजपा का अध्यक्ष बनाया गया. इससे पहले 2016 में उन्हें लोकसभा में पार्टी का मुख्य सचेतक बनाया गया था. वे कोयला और लोहा के लिए बनी संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष हैं.