नई दिल्ली के एनडीएमसी कंवेंशन सेंटर में जारी बीजेपी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पार्टी के पदाधिकारियों को शाम चार बजे संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री पांच राज्यों में होने वाले चुनाव को देखते हुए पार्टी की चुनावी रणनीति पर चर्चा करेंगे साथ ही बीजेपी को जीत का मंत्र देंगे।

आपको बता दें कि बैठक के पहले दिन नोटबंदी और सर्जिकल स्ट्राइक के फैसले को मोदी सरकार की तरफ से लिए गया ऐतिहासिक और कामयाबी भरा फैसला करार दिया गया। अमित शाह ने कहा कि नोटबंदी से काले धन पर कड़ा प्रहार हुआ और सारे जाली नोट खत्म हो गए। भ्रष्टाचार पर सबसे बड़ा प्रहार हुआ। इससे देश के विकास में मदद मिलेगी।

केंद्रीय गृह मंत्री और पूर्व पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह की ओर से पेश गए प्रस्ताव में विपक्ष पर भी निशाना साधकर कहा गया कि बाधा पहुंचाना और घबराहट उनका प्रतीक बन गया है जबकि बीजेपी ने एक के बाद एक चुनावी जीत हासिल की है जो नोटबंदी के लिए जनता के समर्थन को दिखाती है।
यह भी पढ़ें: चुनाव से पहले बजट को लेकर विपक्ष का विरोध, चुनाव आयोग ने सरकार से मांगा जवाब

कार्यकारिणी में प्रस्ताव लाकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल प्रमुख ममता बनर्जी पर भी निशाना साधा गया जो केंद्र की नीतियों की लगातार विरोध कर रही हैं। कानून का पालन करने वाले बहुसंख्यक समुदाय की सुरक्षा में नाकामी पर ममता सरकार पर निशाना साधते हुए प्रस्ताव में धूलागढ दंगों को इसका सबसे स्पष्ट उदाहरण बताया गया।

पार्टी अध्यक्ष के तेवर से तय है कि बीजेपी सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे को भी चुनावों में जमकर भुनाएगी। शनिवार को भी बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक जारी रहेगी, जिसमें आर्थिक प्रस्ताव पेश किया जाएगा। आर्थिक प्रस्ताव में किसानों और कृषि को लेकर सरकार की नीतियां और फायदे गिनवाए जाएंगे। मगर सबकी नजरें रहेंगी पीएम मोदी के समापन भाषण पर, देखना है कि पांच राज्यों में होने वाले चुनावों पर पीएम पार्टी के लोगों को क्या मूल मंत्र देते हैं।