नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के संगठन में एक बड़ा बदलाव हुआ है. भाजपा राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) रामलाल को इस पद से हटाकर राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (आरएसएस) में वापस ले लिया गया है. आरएसएस में रामलाल को अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख की नई जिम्मेदारी दी गई है.

 

आरएसएस सूत्रों ने इस आशय की जानकारी दी है. रामलाल भाजपा में संगठन मंत्री का दायित्व संभाल रहे थे. चर्चा है कि वी सतीश को भाजपा में संगठन मंत्री बनाया जा सकता है. वी सतीश अभी भाजपा में राष्ट्रीय संयुक्त महासचिव हैं. भाजपा में एक प्रमुख रणनीतिकार के रूप में रामलाल संघ एवं पार्टी के बीच की कड़ी थे. उन्हें भाजपा की हर बड़ी बैठक में देखा जाता था. इसके अलावा आरएसएस में गोपाल आर्य को पर्यावरण गतिविधियों का राष्ट्रीय समन्वयक बनाया गया है.

आगामी चुनावों पर नड्डा ने की नेताओं के साथ चर्चा
उधर, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे. पी. नड्डा ने शनिवार को राज्य के पार्टी नेताओं के साथ आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर चर्चा की. नड्डा जब शनिवार को अपने दो दिवसीय दौरे पर बिरसा मुंडा हवाई अड्डे पर पहुंचे तो पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका शानदार स्वागत किया. इसके बाद नड्डा ने मुख्यमंत्री रघुबर दास, केंद्रीय जनजातीय मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा और अन्य स्थानीय नेताओं के साथ राज्य अतिथि गृह में भाजपा कोर कमेटी की बैठक में हिस्सा लिया.

झारखंड में नवंबर-दिसंबर में होने हैं विधानसभा चुनाव
बाद में, नड्डा ने जिला अध्यक्षों की एक बैठक में भी भाग लिया. यहां उन्होंने कहा कि झारखंड के लोगों ने 2014 और 2019 के लोकसभा चुनावों में पार्टी को अपना आशीर्वाद दिया है. उन्होंने कहा कि भाजपा ने राज्य की 14 संसदीय सीटों में से 12 सीटें जीती, वहीं 2014 के विधानसभा चुनाव में 82 सदस्यीय सदन में 37 सीटें जीतीं. इसी के साथ उसके सहयोगी अखिल झारखंड छात्र संघ ने भी पांच सीटों पर जीत हासिल की. इसके बाद नड्डा ने कहा, “2019 के विधानसभा चुनावों में इसे बनाए रखा जाना चाहिए. बता दें कि झारखंड में इस साल नवंबर-दिसंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं. नड्डा का हालांकि राज्य के सांसदों और विधायकों से मिलना अभी बाकी है.