नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को स्वाइन फ्लू के इलाज के बाद अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, दिल्ली से रविवार को छुट्टी मिल गई. एम्स के एक अधिकारी ने कहा, ‘स्वाइन फ्लू के इलाज के बाद शाह को सुबह दस बजकर बीस मिनट पर एम्स से छुट्टी दे दी गई. भाजपा नेता और पार्टी के आईटी प्रकोष्ठ के प्रभावी अमित मालवीय ने बताया कि शाह स्वस्थ हैं और अस्पताल से घर आ गए हैं. मालवीय ने कहा, ‘भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को एम्स से छुट्टी मिल गई है. वह स्वस्थ हैं और घर वापस आ गए हैं. आप सभी की शुभकामनाओं और संदेशों के लिए धन्यवाद. सांस लेने में दिक्कत और सीने में जकड़न की शिकायत के बाद बुधवार को शाह को एम्स में भर्ती कराया गया था.

एम्स से छुट्टी मिलने की बात अमित शाह ने खुद ट्वीट कर बताई. शाह ने ट्वीट किया, ईश्वर की कृपा से अब मैं पूर्ण रूप से स्वस्थ हूं और आज अस्पताल से डिस्चार्ज होकर अपने आवास पर आ गया हूं. मेरे स्वास्थ्य लाभ के लिए आप सभी के द्वारा प्रेषित शुभकामनाओं के लिए ह्रदय से आभारी हूं.

बता दें कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के खराब स्वास्थ्य को लेकर पार्टी ने पश्चिम बंगाल में प्रस्तावित रैलियां दो दिनों के लिए टाल दी थी. भाजपा के प्रदेश इकाई प्रमुख दिलीप घोष ने कहा था कि चूंकि शाह स्वस्थ नहीं हैं, इसलिए हमने तारीखों (रैलियों की) में बदलाव करने का फैसला किया है ताकि वह उनमें शरीक हो सकें. अमित शाह मालदा में 22 जनवरी को पहली रैली को संबोधित करेंगे. वह 23 जनवरी को बीरभूम और झाड़ग्राम जिलों में दो रैलियों को संबोधित करेंगे. वहीं, 24 जनवरी को दक्षिण परगना और नदिया जिलों में रैलियों को संबोधित करेंगे.

भाजपा ने गुरुवार को कहा था कि स्वाइन फ्लू होने के चलते शाह को नई दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया है. वह स्वस्थ हो रहे हैं और एक-दो दिनों में उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी. भाजपा ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए पश्चिम बंगाल को एक वरीयता वाला राज्य के रूप में चुना है. घोष ने कहा कि पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी कुछ रैलियां कराने पर विचार कर रही है हालांकि अब तक तारीखों की पुष्टि नहीं की गई है.