नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय मुख्यालय पर अब फिर से केंद्रीय मंत्री जनता दरबार लगाकर तकलीफें सुनेंगे. पिछले एक साल से ठप चल रही जनसुनवाई की प्रक्रिया मंगलवार को फिर से शुरू हो गई. राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मंगलवार को रेलमंत्री पीयूष गोयल के साथ पार्टी मुख्यालय पर ‘सहयोग’ कार्यक्रम का उद्घाटन किया. अब हर सप्ताह सोमवार से शुक्रवार तक दोपहर तीन से चार बजे के बीच एक केंद्रीय मंत्री मौजूद रहकर जनसुनवाई करेंगे. रेलमंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को पार्टी के सहयोग सेल में बैठकर लोगों की समस्याएं सुनीं. वहीं, नड्डा ने कहा कि जनता की आवाज सरकार तक पहुंचाने में सहयोग सेल ने अहम भूमिका निभाई है. अब फिर से सहयोग सेल शुरू हुआ है. केंद्रीय मंत्री जनता की व्यक्तिगत और सार्वजनिक समस्याएं सुनेंगे.Also Read - असम-मिजोरम सीमा विवाद: अमित शाह ने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों से की बात, जानिए क्या निकला नतीजा

दरअसल, भाजपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद अमित शाह ने पार्टी मुख्यालय में सहयोग सेल स्थापित किया था. सोमवार से शुक्रवार तक एक-एक केंद्रीय मंत्री की कम से कम एक घंटे की रोस्टर के हिसाब से ड्यूटी लगती थी. इसके बाद पार्टी कार्यकर्ता और आम जन तय समय पर सहयोग सेल पहुंचकर मंत्रियों से अपनी समस्या कहते थे. मगर पिछले साल जनवरी से सहयोग सेल में मंत्रियों के बैठने का सिलसिला ठप हो गया. इसके बाद पार्टी लोकसभा चुनाव में व्यस्त हो गई. दूसरी बार सरकार बनने के बाद भी मंत्रियों की जनसुनवाई नहीं शुरू हुई. Also Read - UP में पहले महिलाएं असुरक्षित महसूस करती थीं, अब देश में दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला राज्‍य बना: अमित शाह 

आखिरकार राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद जेपी नड्डा ने फिर से पुरानी व्यवस्था को बहाल करने का निर्णय लिया. इसी सिलसिले में मंगलवार को सहयोग सेल का उन्होंने शुभारंभ किया. मंगलवार को पीयूष गोयल ने लोगों की तकलीफें सुनकर उसका समाधान करने की कोशिश की. Also Read - UP: अमित शाह और CM योगी ने UPSIFS का शिलान्‍यास किया, विंध्याचल कॉरिडोर का भी करेंगे भूमिपूजन