नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी ने पश्चिम बंगाल सरकार पर पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को जाधवपुर में रैली की अनुमति नहीं देने का आरोप लगाते हुए सोमवार को कहा कि निर्वाचन आयोग पार्टी को निशाना बनाने के तृणमूल कांग्रेस के कथित अलोकतांत्रिक तरीकों का मात्र ‘‘मूक दर्शक’’ बन कर रह गया है. बीजेपी मीडिया प्रमुख एवं राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी ने बताया कि पार्टी विरोध प्रदर्शन करेगी और निर्वाचन आयोग का दरवाजा भी खटखटाएगी.

19 मई को होने हैं मतदान
उन्होंने कहा कि शाह की रैली सोमवार को जाधवपुर में होनी थी, जहां लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में 19 मई को मतदान होना है. राज्य प्रशासन ने इसकी अनुमति देने से अंतिम मिनट पर इनकार कर दिया. बलूनी ने कहा कि शाह के हेलीकॉप्टर को उतरने के लिए दी गई अनुमति भी वापस ले ली गई है.

अलोकतांत्रिक तरीके का हो रहा है इस्तेमाल
उन्होंने कहा, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि निर्वाचन आयोग राज्य में इस तरह की घटनाओं और तृणमूल द्वारा किए जा रहे हिंसा के इस्तेमाल का केवल मूल दर्शक बन गया है. बलूनी ने आरोप लगाया कि राज्य में सत्तारूढ़ दल भाजपा को निशाना बनाने के लिए अलोकतांत्रिक तरीकों का इस्तेमाल कर रहा है. आम चुनाव के आखिरी चरण में राज्य की नौ सीटों पर मतदान होगा