नई दिल्ली: सबरीमाला मामले को बड़ी पीठ को भेजे जाने के उच्चतम न्यायालय के निर्णय के बीच भाजपा ने गुरूवार को केरल सरकार से प्रदेश में कानून व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा. भाजपा के वरिष्ठ नेता और विधि एवं न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने संवाददाताओं से कहा कि वह इस मामले में केरल सरकार को कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए कहने के अलावा और कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते.

भाजपा के वरिष्ठ नेता बी एल संतोष ने सबरीमला मंदिर में हर आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश के मामले को सुनवाई के लिए बड़ी पीठ को भेजने के उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए बृहस्पतिवार को दावा किया कि यह श्रद्धालुओं के अधिकारों एवं उनकी आस्था की सुरक्षा की दिशा में उठाया गया कदम है.

भाजपा के संगठन मंत्री बी एल संतोष ने ट्वीट किया, ‘सबरीमला मामले को बड़ी पीठ को भेजा गया. हम श्रद्धालुओं के अधिकारों एवं उनकी आस्था की सुरक्षा की दिशा में लिए गए इस निर्णय का स्वागत करते हैं.’ उन्होंने कहा कि यह कभी भी मौलिक अधिकारों का विषय नहीं रहा. यह समाज की ओर से स्वीकार्य सदियों पुरानी परंपरा का मामला है.

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने सबरीमला मंदिर, मस्जिदों में महिलाओं के प्रवेश तथा दाऊदी बोहरा समाज में स्त्रियों के खतना सहित विभिन्न धार्मिक मुद्दे बृहस्पतिवार को नए सिरे से विचार के लिए सात सदस्यीय संविधान पीठ को सौंप दिए.

(इनपुट-भाषा)