नई दिल्ली. बीजेपी ने साल 2019 लोकसभा चुनाव के लिए एक तरफ कई सीटों पर प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया है तो दूसरी तरफ पार्टी में नाराजगी के स्वर भी उठने लगे हैं. खास बात ये है कि इसमें पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के नाम शामिल हैं. सबसे पहले लालकृष्ण आडवाणी का टिकट कटा, जिसके बाद दूसरे नेताओं ने इसपर प्रतिक्रिया दी. इसके बाद मुरली मनोहर जोशी को कानपुर से चुनाव नहीं लड़ने के बारे में कहा गया है. इसे लेकर जोशी ने कानपुर की जनता को चिट्ठी लिखी है.

मुरली मनोहर जोशी ने कहा, पार्टी के संगठन महासचिव रामलाल ने मुझसे कहा कि मैं कानपुर या कहां से भी चुनाव न लड़ूं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रामलाल ने जोशी से कहा कि पार्टी चाहती है कि आप पार्टी ऑफिस आकर चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान करें. इस पर जोशी ने नाराजगी जताई है.

कथित चिट्ठी वायरल
इसे लेकर सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है. बताया जा रहा है कि इसे मुरली मनोहर जोशी ने लिखा है और कानपुर की जनता को जानकारी दी है कि रामलाल ने उन्हें चुनाव नहीं लड़ने के लिए कहा है. इसे लेकर भी तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. india.com hindi इसकी पुष्टि नहीं करता है.

वाराणसी से रह चुके हैं सांसद
बता दें कि इससे पहले मुरली मनोहर जोशी वाराणसी से सांसद थे. लेकिन साल 2014 में नरेंद्र मोदी के वहां से उम्मीद घोषित होने के बाद जोशी ने वह सीट छोड़ दी थी और कानपुर से चुनाव लड़े थे. इससे पहले मुरली मनोहर जोशी इलाहाबाद से भी सांसद रह चुके हैं.