नई दिल्ली: भाजपा ने लद्दाख की गलवान घाटी में शहीद हुए सैनिकों के सम्मान में अपनी डिजिटल रैलियों समेत राजनीतिक कार्यक्रम स्थगित कर दिए हैं. पार्टी के अध्यक्ष जे. पी. नड्डा ने बृहस्पतिवार को ट्वीट किया, ‘‘गलवान घाटी में हमारी मातृभूमि की रक्षा करते हुए वीर सैनिकों के सर्वोच्च बलिदान को हमेशा याद रखा जाएगा. देश उनका ऋणी है. मैं शहीदों को श्रद्धांजलि देता हूं. भाजपा ने डिजिटल रैलियों समेत सभी राजनीतिक कार्यक्रम अगले दो दिनों के लिए स्थगित करने का फैसला किया है.’’ Also Read - पैंगोंग झील और डेपसांग से अभी तक पीछे नहीं हटे चीनी सैनिक, जानिए क्या पूरा मामला

गौरतलब है कि सोमवार रात को पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में एक कर्नल समेत 20 भारतीय सैन्यकर्मी शहीद हो गए. पांच दशकों में यह चीन के साथ सबसे बड़ा सैन्य टकराव है जिससे क्षेत्र में सीमा पर पहले से ही तनावपूर्ण हालात और खराब हो गए हैं. Also Read - हॉट स्प्रिंग्स और गोगरा में भारत-चीन की सेनाओं ने पीछे हटना शुरू किया: रिपोर्ट

हालात और अधिक न बिगड़े इसके लिए दोनों सी देशों की तरफ से हाई लेवेल मीटिंग चल रही है. LAC पर चीनी सैनिकों के साथ झड़प को लेकर भारत सरकार ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. भारत की तरफ से यह स्पष्ट किया गया है कि भारत किसी भी हालत में अपनी संप्रभुता और अंखडता को लेकर समझौता नहीं करेगा.

लेह स्थित 3 इन्फेंट्री डिविजन के कमांडर मेजर जनरल अभिजीत बापट ने वार्ता में भारतीय प्रतिनिधित्व का नेतृत्व किया. मंगलवार को भी दोनों पक्षों के बीच मेजर जनरल स्तरीय बातचीत हुई. एक सूत्र ने बताया, ‘‘दोनों पक्षों की ओर से हिंसक झड़प के मुद्दे उठाए गए . भारत ने क्षेत्र में पीछे हटने की प्रकिया में तेजी लाने को कहा. हालांकि कोई सफलता नहीं मिली. ’’ गलवान घाटी में सोमवार को हिंसक झड़प में भारत के एक कर्नल सहित 20 सैन्यकर्मी शहीद हो गए.