नई दिल्ली। कार्ति चिदंबरम की गिरफ्तारी के बाद आज केद्र ने पी चिदंबरम को निशाने पर लिया. सरकार ने कांग्रेस और यूपीए सरकार को आर्थिक धोखाधड़ी को लेकर सीधे निशाने पर लिया. केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कांफ्रेंस में एक एक कर यूपीए सरकार के फैसले गिनाए जिससे सरकार को घाटा हुआ. उन्होंने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम से भी तीखे सवाल पूछे. खासकर गोल्ड स्कीम को लेकर रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर करारा हमला बोला.

उन्होंने कहा, दबाव और लालच में यूपीए सरकार ने बैंकिंग सिस्टम को तोड़कर रख दिया. यूपीए सरकार ने देश के अर्थतंत्र को तार तार करके रख दिया. उन्होंने कहा कि यूपीए ने 6 साल में 52.15 लाख करोड़ रुपये दिए हमारी सरकार में दिया एक भी लोन एनपीए में नहीं है.

उन्होंने 80:20 गोल्ड स्कीम को लेकर यूपीए सरकार और पी चिदंबरम को निशाने पर लिया. रविशंकर प्रसाद ने कहा, 16 मई 2014 को यूपीए के वित्त मंत्री ने 7 कंपनियों को गोल्ड स्कीम में एंट्री दी. 80:20 स्कीम के तहत 7 कंपनियों को फायदा क्यों दिया गया. जिस दिन कांग्रेस हार रही थी उस दिन सात कंपनियों को फायदा पहुंचाया गया. 80:20 स्कीम 2013 में लाकर 2014 में खत्म की गई. जिन 7 कंपनियों को फायदा पहुंचाया गया उसमें गीतांजलि भी शामिल है. चिदंबरम बताएं कि ऐसा क्यों किया गया, किसका आशीर्वाद था?

रविशंकर ने कहा, आजकल राफेल डील की चर्चा हो रही है. हैरत वाली बात है कि जो कांग्रेस बोफोर्स घोटाले में लिप्त रही है वह राफेल डील पर सवाल उठा रही है. कांग्रेस पिछले 10 साल में राफेल डील को पक्की नहीं कर सकी थी.

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस बार बार हार रही है लेकिन समझ नहीं पा रही है. कांग्रेस पिछले 4 साल से भय और भ्रम की राजनीति कर रही है. कांग्रेस ने 10 साल में इतने लैंडमाइन बिछाए कि विस्फोट होते रहते हैं. राहुल गांधी की कमी ये है कि वह अपनी गलतियों से कुछ सीखते नहीं हैं. कांग्रेस यूपी, हरियाणा, झारखंड, कश्मीर में हारी. हम उम्मीद करते थे कि नॉर्थ ईस्ट में कांग्रेस की पकड़ है. पर कांग्रेस त्रिपुरा और नगालैंड में जीरो पर पहुंच गई. नगालैंड में बीजेपी ने 20 उम्मीदवार उतारे और 12 जीते. हमें 15 फीसदी वोट मिले. ऐसे प्रदेश में जहां 88 फीसदी ईसाई रहते हैं.

बता दें कि गीतांजलि जेम्स मेहुल चोकसी की कंपनी है. 11400 करोड़ का पीएनबी घोटाला अंजाम देकर मेहुल अपने भांजे नीरव मोदी के साथ देश से फरार है. सीबीआई उसकी तलाश में जुटी हुई है और ईडी लगातार इन दोनों के ठिकानों पर छापेमारी कर जब्ती की कार्रवाई कर रही है. अब तक करीब 6 हजार करोड़ की संपत्ति जब्त की जा चुकी है.