नई दिल्ली: आगामी लोकसभा चुनावों को लेकर विपक्षी महागठबंधन की कवायद पर तंज कसते हुए भाजपा ने गुरुवार को कहा कि भारत में इनका महागठबंधन नहीं बन पा रहा है लेकिन कांग्रेस के नेतृत्व में ‘‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’’ अंतरराष्ट्रीय गठबंधन बनाने में लगा है.

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने संवाददाताओं से कहा कि देश के संसाधनों पर देश की जनता का सबसे पहला अधिकार है. लेकिन कांग्रेस पार्टी रोहिंग्या शरणार्थियों को वापस भेजने से परेशान है. पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को इससे बहुत दुख और तकलीफ हो रही होगी.

पात्रा ने जोर दिया कि भारत में कुछ राजनीतिक दल ऐसी ताकतों के साथ खड़े हैं जो देश को तोड़ना चाहते हैं और इसमें प्रमुखत: कांग्रेस पार्टी, राहुल गांधी शामिल हैं. उन्होंने इस संदर्भ में कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू की पाकिस्तान यात्रा से जुड़े बयान, पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, मणिशंकर अय्यर के बयानों का भी जिक्र किया.

भाजपा प्रवक्ता ने दावा किया कि कुछ ही अंतराल में कई टीवी चैनलों ने खालिस्तान, रोहिंग्या, बांग्लादेशी घुसपैठियों का जिक्र करते हुए कहा कि ऐसी ताकतों से महागठबंधन करने का दृश्य उपस्थित हो रहा है. उन्होंने आरोप लगाया कि पाकिस्तान, जो भारत को क्षति पहुंचाना चाहता है, में सिद्धू वहां के सेनाध्यक्ष से गले मिलते हैं. वहां की ताकतें राहुल गांधी को प्रधानमंत्री देखना चाहती हैं.

चंदा कोचर ने छोड़ा ICICI बैंक, संदीप बख्शी को मिली जिम्मेदारी

पात्रा ने कहा कि केंद्र सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि संसाधनों पर पहला हक देश के लोगों का है. ऐसे में राष्ट्रीय नागरिक पंजी., रोहिंग्या, बांग्लादेशी घुसपैठियों पर केंद्र का रुख प्रशंसनीय है. उन्होंने कहा कि भारत में महागठबंधन तो बन नहीं पा रहा है, लेकिन कांग्रेस के नेतृत्व में ‘‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’’ का अंतरराष्ट्रीय गठबंधन बन रहा है.

राफेल डील: सीएजी के पास फिर पहुंची कांग्रेस, फोरेंसिक ऑडिट की मांग

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ‘मेकिंग इंडिया’ में लगी है जबकि विपक्ष का एकमात्र एजेंडा मोदी हटाओ है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि अरविंद केजरीवाल अपनी राजनीति को साधने के लिए जिस प्रकार से राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं, उसे क्षमा नहीं किया जा सकता. पात्रा ने दावा किया कि एक टीवी द्वारा किये गए स्टिंग में एक आंतकवादी संगठन के सदस्य ने स्वीकार किया है कि वो पंजाब में आम आदमी पार्टी के लिए चुनाव में प्रचार कर रहे थे और चुनाव में उन्हें धन भी मुहैया कराया.

2.5 नहीं इन दो राज्यों में 5 रुपये सस्ता हुआ पेट्रोल-डीजल

उन्होंने आरोप लगाया कि खालिस्तान समर्थित आंतकी ने टीवी स्टिंग में स्वीकार है कि आम आदमी पार्टी के माध्यम से खालिस्तानी ताकतें पंजाब और भारत तक पहुंच सकती हैं. इसीलिए हम पंजाब चुनाव में आम आदमी पार्टी को फंडिंग (वित्त पोषण) दे रहे थे और उसका प्रचार कर रहे थे.