नई दिल्ली. बीजेपी ने कहा कि वह चुनाव आयोग को अर्जी देकर पुडुचेरी में सत्तारूढ़ कांग्रेस और उसकी सहयोगी पार्टी डीएमके के आठ विधायकों को लाभ का पद संभालने के लिए अयोग्य घोषित करने की मांग करेगी. बीजेपी की स्थानीय इकाई के अध्यक्ष वी सामीनाथन ने आरोप लगाया कि आठ विधायकों में छह कांग्रेस के और दो डीएमके के अब एक ही समय में पुडुचेरी सरकार के संवैधानिक निकायों के प्रमुख का पद भी संभाल रहे हैं. Also Read - बाहुबली MLA विजय मिश्रा की MLC पत्‍नी और बेटे की संपत्ति कुर्की आदेश को चुनौती वाली याचिका खारिज

20 विधायकों की बर्खास्तगी पर सिसोदिया ने जनता के नाम लिखा खुला खत

20 विधायकों की बर्खास्तगी पर सिसोदिया ने जनता के नाम लिखा खुला खत

Also Read - अजित पवार ने जनसंघ संस्‍थापक दीनदयाल उपाध्याय को श्रद्धांजलि दी, बाद में ट्वीट हटाया

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का एक विधायक मुख्यमंत्री के संसदीय सचिव के तौर पर भी काम कर रहा है. सामीनाथन ने कहा, हम एक अर्जी देकर चुनाव आयोग से अपील करेंगे कि वह इन सभी आठ विधायकों को अयोग्य घोषित करे क्योंकि वे लाभ के पद पर बने हुए हैं. उन्होंने कहा कि ये विधायक दिल्ली विधानसभा के 20 आप विधायकों वाली स्थिति से गुजर रहे हैं जिन्हें लाभ का पद संभालने के लिए अयोग्य घोषित कर दिया गया है. Also Read - महाराष्‍ट्र के गृह मंत्री ने बिहार के पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडे पर साधा निशाना, दिया ये बड़ा बयान

उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने एक एजेंडा के तहत इन विधायकों को प्रमुख और संसदीय सचिव के तौर पर नियुक्त किया ताकि वह अपनी सरकार पर आने वाले किसी तरह के संकट से बच सकें.