नई दिल्ली: बसपा सुप्रीमो मायावती द्वारा कांग्रेस से गठबंधन को लेकर बातचीत रद्द करने पर चुटकी लेते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि गठबंधन बनाना कांग्रेस के डीएनए में नहीं है. उन्‍होंने कटाक्ष किया कि कांग्रेस केवल गांधी परिवार को ही महत्व देती है.

प्रसाद ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ कांग्रेस किसके साथ गठजोड़ करती है, यह पूरी तरह से उसका मामला है लेकिन मायावती की ओर से व्यक्त चिंताओं एवं पीड़ा के मद्देनजर मैं केवल यह कह सकता हूं कि गठबंधन कांग्रेस के डीएनए का हिस्सा नहीं है और वह केवल एक परिवार को ही महत्व देती है.’’

मायावती ने कांग्रेस को बताया अहंकारी, कहा- एमपी, राजस्थान में कोई चुनावी तालमेल नहीं

वहीं, भाजपा नेता एवं उत्तरप्रदेश सरकार में बिजली मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस एक डूबता जहाज है और राजनीति से जुड़ा कोई भी दल इस डूबते जहाज का साथी नही होगा. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने यह तय कर दिया है कि हम तो डूबेंगे ही, दूसरों को भी ले डूबेंगे. 2017 में उत्तरप्रदेश में इसे चरितार्थ किया गया जब कांग्रेस के साथ सपा की नैय्या डूब गई. शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में 2019 में पूर्ण बहुमत की सरकार बनना तय है. विपक्षी दलों में विपक्ष के नेता और विपक्ष का चेहरा बनने की लड़ाई चल रही है और यही आज की वास्तविकता है.

मायावती के बयान पर कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, भावुकता में लोग खट्टी-मीठी चीजें कह जाते हैं

उल्लेखनीय है कि बसपा प्रमुख मायावती ने बुधवार को एक लिखित बयान में कहा कि उनकी पार्टी राजस्थान और मध्य प्रदेश में या तो अकेले चुनाव लड़ेगी या फिर क्षेत्रीय दलों के साथ मिलकर लड़ेगी, लेकिन कांग्रेस के साथ गठजोड़ नहीं करेगी. इतना ही नहीं, उन्होंने कांग्रेस पर बसपा को ‘खत्म’ करने की कोशिश करने का भी आरोप लगाया.