नई दिल्ली: देश में प्रवासी मजदूरों के गहराते संकट के बीच बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम माथुर ने गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखा है. उन्होंने इस पत्र में सुझाव देते हुए कहा कि पीएम केयर्स से जारी एक हजार करोड़ रुपए से मजदूरों को घर भेजने की व्यवस्था हो. यह पहल केंद्रीय स्तर पर होनी चाहिए. Also Read - इस दिन खुलेगा प्रसिद्ध बालाजी मंदिर, हर दिन 6,000 भक्त कर पाएंगे दर्शन

बीजेपी के राज्यसभा सांसद ओम माथुर ने गृहमंत्री अमित शाह को लिखे पत्र में कहा है, “प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में पूरी केंद्र सरकार दिन-रात इस संकट से देशवासियों को उबारने के लिए प्रयास कर रही है. आपके द्वारा सीएपीएफ की कैंटीनों में स्वदेशी की पहल स्वागत योग्य है. टीवी और समाचार पत्रों के माध्यम से आपको प्रवासी मजदूरों के पैदल घर जाने के बारे में जानकारी होगी. प्रवासी मजदूरों का विषय चर्चाओं में आकर बहुत तूल पकड़ रहा है.” Also Read - गुजरात में कांग्रेस के एक और विधायक ने दिया इस्‍तीफा, राज्‍यसभा चुनाव से पहले 8 MLA ने छोड़ा साथ

ओम माथुर ने आगे कहा, “प्रवासी मजदूर सैकड़ों किलोमीटर एक राज्य से दूसरे राज्यों में पैदल जा रहे हैं. केंद्र सरकार ने इतना कुछ किया लेकिन इस संकट की घड़ी में राज्यों के आपस के नीतिगत विरोध के कारण प्रवासी मजदूर बहुत परेशान हैं. ये सब हमारे ही लोग हैं.” Also Read - राज्यसभा चुनाव से पहले गुजरात में कांग्रेस के विधायकों का इस्तीफा, 3 माह में 7 MLA छोड़ चुके हैं पार्टी

बीजेपी उपाध्‍यक्ष ने अनुरोध करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री केयर फंड से एक हजार करोड़ की राशि प्रवासी मजदूरों के लिए आवंटित की गई है. उस राशि का उपयोग मजदूरों को उनके घर तक सहज और सुलभ रूप से पहुंचाने में किया जाए तो उचित होगा. इसकी व्यवस्था केंद्रीय स्तर पर करना उचित होगा. जिससे राज्यों के टकराव की कीमत प्रवासी मजदूरों को न उठानी पड़ी.