नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के बीच सरकारी स्वास्थ्य सुविधाओं पर सवालिया निशान लगने के बाद भाजपा, अपने डॉक्टरों के साथ मैदान में उतरने जा रही है. सभी 14 जिलों में डॉक्टरों की तैनाती कर जरूरतमंदों को इलाज के साथ टेस्टिंग आदि में पार्टी सहयोग करेगी. गृहमंत्री अमित शाह के आवास पर शनिवार को हुई मीटिंग के दौरान जब प्रदेश अध्यक्ष आदेश कुमार गुप्ता ने प्रदेश इकाई की इस योजना के बारे में बताया तो उन्होंने सराहना की थी. Also Read - शिवराज मंत्रिमंडल का हो गया विस्तार, 20 कैबिनेट और 8 राज्यमंत्री शामिल

राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा पहले ही पार्टी को इस बारे में खास निर्देश दे चुके हैं. पार्टी सूत्रों का कहना है कि बीजेपी का मेडिकल सेल जल्द ही नगर निगमों के मेयर के साथ मीटिंग कर अभियान की रुपरेखा तय करेगा कि किस तरह से जरूरतमंदों को इलाज आदि सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं. होम क्वारंटीन के दौरान कैसे सेहत की सुरक्षा करें, यह भी डॉक्टर लोगों को बताएंगे. Also Read - आज होगा शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार, असंतोष को दबाने की कवायद शुरू

दिल्ली भाजपा के चिकित्सा प्रकोष्ठ के सह प्रभारी और इस अभियान के संयोजक डॉ. अनिल गोयल ने आईएएनएस से कहा, “दिल्ली में राज्य सरकार जनता को स्वास्थ्य सुविधाएं देने में फेल साबित हुई है. दिल्ली में न तो सही से कोरोना की टेस्टिंग हो रही है और न ही उपचार. जिससे कोरोना से लोगों की मौतों की संख्या बढ़ रही है. जनता की तकलीफों को दूर करने के लिए पार्टी के चिकित्सा प्रकोष्ठ ने करीब सौ डॉक्टरों की टीम बनाई है.” Also Read - राजस्थान में कोरोना: 421 मौतें, संक्रमितों की संख्या 18 हज़ार पार, जानें अपने इलाके का हाल

यूं तो दिल्ली बीजेपी के चिकित्सा प्रकोष्ठ ने मई में ही एक हेल्पलाइन शुरू की थी. लेकिन हालात के अब ज्यादा खराब होने पर इस हेल्पलाइन को पार्टी ने विस्तार देने की कोशिश की है. पहले जहां तीन दर्जन डॉक्टर जुड़े थे और वह फोन पर ही सलाह देने तक सीमित थे, अब सौ डॉक्टरों को जमीन पर उतारने की तैयारी है.

डॉ. अनिल गोयल ने बताया कि सभी 14 जिलों में डॉक्टरों की टीम बनाई गई है. हर जिले में प्रतिदिन लोगों की मदद के लिए तीन से चार डॉक्टर उपलब्ध रहेंगे. प्रदेश मुख्यालय की हेल्पलाइन से सभी जिलों के डॉक्टर हमेशा कनेक्ट रहेंगे. जिस जिले का मामला होगा, वहां के डॉक्टर्स को मामला रेफर कर दिया जाएगा. जहां तक हेल्पलाइन की बात है तो दिल्ली का कोई भी व्यक्ति घर-परिवार के लोगों के बीमार होने पर फोन कर सकता है. डॉक्टर फोन पर उपचार बताएंगे. किस अस्पताल में भर्ती होना चाहिए, होम क्वारंटीन के दौरान क्या सावधानी बरतनी चाहिए, ये सभी जानकारियां फोन पर उपलब्ध कराई जाएंगी. जरूरत पड़ने पर घर पर भी इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी. टेस्टिंग में भी सहयोग किया जाएगा.

दिल्ली भाजपा के मीडिया को-इंचार्ज नीलकांत बख्शी ने आईएएनएस से कहा, ” कोरोना के संकट में केजरीवाल सरकार की स्वास्थ्य सुविधाओं की पोल खुल चुकी है. ऐसे में अब भाजपा के मेडिकल सेल के डॉक्टर्स मैदान में उतर रहे हैं. पार्टी अपने स्तर से जनता को जरूरी स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने की दिशा में प्रयासरत है.”

डॉ. अनिल गोयल के मुताबिक, गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली में टेस्टिंग बढ़ाने की बात कही है. हॉटस्पाट एरिया में घर-घर सर्वे करने की बात है, ताकि सभी मामलों का पता लगाया जा सके. ऐसे में पार्टी का मेडिकल सेल ज्यादा से ज्यादा लोगों की टेस्टिंग कराने में सहयोग करेगा. कोरोना का भय दूर करने के लिए दिल्ली की जनता को डॉक्टर जागरूक करेंगे. पार्टी का मेडिकल सेल एक इन्फार्मेटिव पंपलेट छपवाकर भी बांटेगा, जिसमें कई तरह की जानकारियां होंगी. , मसलन-क्या खाएं,क्या न खाएं, लक्षण दिखने पर क्या करें, किस अस्पतला में जाएं..आदि जानकारियां पंपलेट में रहेंगी. बीजेपी दिल्ली इकाई से जुड़े डॉक्टर्स, केंद्र, राज्य सरकारों और एमसीडी प्रशासन की कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सहयोग करेंगे.