नई दिल्ली: बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने बुधवार को कहा कि पार्टी ने कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर एक महीने तक
कोई प्रदर्शन या आंदोलन न करने का फैसला किया है. भाजपा अध्यक्ष का यह बयान तब आया है जब एक दिन पहले ही
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी संसदीय दल की बैठक में सांसदों से कोरोना वायरस के बारे में छोटे-छोटे समूहों में लोगों के
बीच जागरूकता फैलाने के लिए कहा तथा सुझाव दिया कि उन्हें 15 अप्रैल तक कोई भी जन आंदोलन शुरू करने से बचना
चाहिए. Also Read - Covid-19: देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 5000 के करीब, लॉकडाउन बढ़ाने पर विचार कर रही है सरकार

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, प्रधानमंत्री ने कल संसदीय दल की बैठक में इच्छा व्यक्त की थी कि हमें धरना, विरोध प्रदर्शन आदि
से बचना चाहिए. इसे ध्यान में रखते हुए भाजपा ने निर्णय किया है कि अगले एक महीने तक हम किसी धरना, विरोध प्रदर्शन
में हिस्सा नहीं लेंगे. Also Read - केंद्र सरकार को हाई कोर्ट का निर्देश, झारखंड को तत्काल दस हजार टेस्ट किट और 25 हजार पीपीई मुहैया कराएं

बीजेपी अध्‍यक्ष ने कहा कि पार्टी जन सभाएं नहीं करेगी. अगर हमें कोई जानकारी देनी होगी तो वरिष्ठ पार्टी नेता ज्ञापनों के
जरिए सूचना देंगे. पार्टी के चार या पांच पदाधिकारी संबंधित प्राधिकारियों को ज्ञापन सौंपेंगे और सामूहिक एकत्रीकरण से बचेंगे. Also Read - Covid-19: सांसदों का वेतन घटाने के लिए अध्यादेश जारी, अब हर महीने उठाना होगा 27 हजार रूपये का नुकसान

जेपी नड्डा ने कहा, ”पार्टी की सभी इकाइयों से कोरोना वायरस के संबंध में जागरूकता फैलाने के साथ-साथ इस संबंध में भी
जानकारी देने को कहा गया है कि क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए. एक तरफ साफ-सफाई पर ध्यान देना है
और घबराहट फैलने से बचना है.”

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री ने दक्षेस देशों के नेताओं को संबोधित करते हुए कहा था कि हमें घबराना नहीं है, लेकिन
यह सुनिश्चित करना है कि इसे फैलने से रोका जाए. बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को सांसदों से छोटे समूहों में
जागरूकता फैलाने को कहा, साथ ही स्पष्ट किया था कि संसद के बजट सत्र में कटौती नहीं की जाएगी.