नई दिल्लीः नागरिकता कानून(CAA) के विरोध में देश भर में हो रहे विरोध के बाद अब भारतीय जनता पार्टी इस कानून के लिए बड़ा कदम उठाने जा रही है. पार्टी इस कानून के मायने समझाने के लिए आज से देश भर में डोर-टू-डोर कैंपेन शुरू करेगी. पार्टी के बड़े नेताओं का कहना है कि इसके माध्यम से शहर के बड़े राजनीति घर घर जाकर लोगों को इसके फायदे और देशभर में फैले इसके भ्रम को दूर करने की कोशिश करेंगे.

आपको बता दें कि इस कैंपेन कि शुरुआत से ही आज पहले ही दिन देशभर में 42 जगहों पर पार्टी के लगभग 40 से ज्यादा नेता घर घर में संपर्क करेंगे. भाजपा ने कहा है कि इसके माध्यम से पार्टी अगले 10 दिन में लगभग 3 करोड़ से ज्यादा लोगों से मिलेगी और उनकी समस्याओं का समाधान करेगी.

गृह मंत्री अमित शाह(Amit Shah) दिल्ली में इस अभियान को हरी झंडी दिखाएंगे और उनके साथ केंद्रीय मंत्री प्रकाश डावड़ेकर(Prakash Javadekar) भी मौजूद रहेंगे. दूसरी तरफ गाजियाबाद में इस कैंपेन की कमान पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा(Jagat Prakash Nadda) संभालेंगे.

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में इसकी शुरुआत रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह(Rajnath Singh) जबकि नागपुर में नितिन गडकरी इसकी जिम्मेदारी संभालेंगे. केंद्रीय मंत्री वी. सदानंद गौड़ा बेंगलुरु और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जयपुर में अभियान को लांच करेंगी.

मध्य प्रदेश में इसके लिए पार्टी ने बड़े लेवल पर तैयारी की है. पार्टी ने इसके लिए जनता के बीच में गोष्ठियां करनी शुरू कर दी है. पार्टी ने इसके समर्थन में अभियान की शुरुआत महाकाल की नगरी कहे जाने वाले उज्जैन से की है. केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर-मुरैना और ग्वालियर तो वहीं पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ला-सीधी में जनता से बात करेंगे