नई दिल्ली: भाजपा महासचिव एवं हरियाणा के पार्टी प्रभारी अनिल जैन ने कहा कि उनकी पार्टी जाट या गैर जाट की राजनीति नहीं करती है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता एवं प्रदेश सरकार के कामकाज की बदौलत राज्य के विधानसभा चुनावों में उनकी पार्टी को 75 से ज्यादा सीटें जीतने का भरोसा है. अनिल जैन ने कहा, ‘‘हमारी पार्टी चुनाव के दौरान राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर के मुद्दों पर ध्यान केंद्रित कर रही है. हम हर चुनाव को गंभीरता से लेते हैं, पार्टी किसी भी तरह से कोई कोताही नहीं बरतती है. भाजपा के लिए चुनाव चुनौती भी है और उत्सव भी.’’ जैन ने कहा, “मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की लोकप्रियता और हमारे शीर्ष नेता नरेंद्र मोदी जी की अत्यधिक लोकप्रियता के अलावा केंद्र एवं राज्य दोनों सरकार की उपलब्धियों के आधार पर, हम 75 से अधिक सीट लाने का लक्ष्य प्राप्त करेंगे.’’

हरियाणा की 90 सदस्यीय विधानसभा के लिये 21 अक्टूबर को मतदान होने हैं. उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘लोकप्रियता’ और केंद्र त‍था राज्य सरकारों की उपलब्धियों के बलबूते पर राज्य में 21 अक्टूबर को होने जा रहे विधानसभा चुनावों में विपक्षी पार्टियों को 10 सीट भी नहीं मिलेंगी और भाजपा को फिर जनादेश मिलेगा. जैन ने कहा कि भाजपा जाट या गैर जाट की राजनीति नहीं करती, बल्कि टिकट बंटवारे में सभी बिरादरी के उम्मीदवारों को चुनाव लड़ने का मौका दिया है तथा लोग विचारधारा और कामकाज के आधार पर पार्टी से जुड़ रहे हैं.

पीएम मोदी इंस्टाग्राम पर दुनिया के सबसे अधिक फॉलो किए जाने नेता, ट्रंप और ओबामा भी छूटे पीछे

हरियाणा में सत्ता में होने के कारण सरकार विरोधी रुख (एंटी इनकम्बेंसी) होने की आशंका के बारे में एक सवाल के जवाब में जैन ने कहा, ‘‘जैसे 2019 के लोकसभा चुनाव को हमने प्रो-इनकम्बेंसी पर लड़ा और अभूतपूर्व नतीजे हासिल किए, ऐसे ही हरियाणा में एन्टी इनकम्बेंसी का सवाल ही नहीं है. हमारे मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेश के लिए बेहतरीन काम किया.’’ विपक्ष के प्रदर्शन के बारे में भाजपा महासचिव ने कहा कि जननायक जनता पार्टी (जजपा) और कांग्रेस 10 का आंकड़ा भी नहीं पार कर पाएंगी, जबकि इनेलो तो खत्म ही हो चुकी है.

कांग्रेस के दिग्गज नेता भूपेन्द्र सिंह हुड्डा द्वारा प्रदेश में कांग्रेस की कमान संभालने के बारे में अनिल जैन ने कहा, ‘‘लोकसभा चुनाव के परिणाम हमारे सामने है, जहां ये पराजित हुए. हुड्डा के लिये अपनी सीट बचाने की चुनौती है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ प्रदेश सरकार के कामकाज के सामने कोई नहीं ठहरता है. पिछले पांच साल में हमारी सरकार के कामकाज का रिपोर्ट कार्ड लोगों के सामने है. इसमें राज्य सरकार की एक विशिष्ट पहचान बनी है. हरियाणा की आबादी देश का दो प्रतिशत है, लेकिन सैन्य क्षेत्र में 10 प्रतिशत प्रतिनिधित्व है. ऐसे में राष्ट्रवाद के मुद्दे को नजरंदाज नहीं कर सकते हैं.’’

हरियाणा: BJP का घोषणा पत्र जारी, अनुसूचित जाति को बिना गारंटी कर्ज देने, किसानों की आय दोगुनी करने का वादा

भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि हरियाणा विधानसभा चुनाव में हम राष्ट्रवाद के साथ ‘हरियाणा एक, हरियाणवी एक’ के नारे को लेकर चल रहे हैं. इसमें निश्चित तौर पर तीन तलाक के खिलाफ कानून बनाना, जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 एवं अनुच्छेद 35ए के अधिकतर प्रावधानों को रद्द करना, एनआरसी का विषय महत्वपूर्ण है. प्रदेश में पिछली सरकारों के दौरान भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए जैन ने कहा कि मनोहर लाल सरकार ने ट्रांसफर पॉलिसी इतनी बेहतरीन बनाई कि किसी तरह की कोई शिकायत नहीं आई. उन्होंने कहा कि ‘नो पर्ची-नो खर्ची’ के दम पर तमाम लोगों को नौकरी दिलवाई तथा ई-टेंडरिंग को प्रभावी ढंग से लागू किया.

PM मोदी ने कहा- अनुच्छेद 370 की बहाली का वादा करके दिखाए विपक्ष, पड़ोसी देश की भाषा क्यों बोलता है?