रामगढ़: भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को यहां कहा कि कांग्रेस एक धोखेबाज पार्टी है और वह भरोसे के लायक नहीं है. इस पार्टी ने चंद्रशेखर, एच डी देवगौड़ा और इंद्र कुमार गुजराल को प्रधानमंत्री तो बनाया, लेकिन कुछ समय बाद सभी की सरकारें गिरा दीं और किसी को अपना कार्यकाल पूरा नहीं करने दिया. चौहान ने झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी प्रत्याशियों के समर्थन में आज विभिन्न जगह सभाओं को संबोधित किया.

उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस पहले बनाती है और फिर खुद ही बर्बाद करती है. झारखंड के विकास के लिए हमें एक स्थिर सरकार चाहिए. राम राज चाहिए और यह सिर्फ भारतीय जनता पार्टी ही दे सकती है.’’ भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कहा, ‘‘‘कहीं की ईंट कहीं का रोड़ा, भानुमति ने कुनबा जोड़ा, उसमें से निकले मधु कोड़ा, भ्रष्टाचार का रिकॉर्ड तोड़ा, झारखंड को कहीं का नहीं छोड़ा, विकास के रास्ते में बन गए रोड़ा.‘’ उन्होंने कहा कि झारखंड को गठबंधन वाले लूट-लूटकर खा गए. ये लोग झारखंड का विकास नहीं कर सकते. यह इस प्रदेश का दुर्भाग्य रहा कि इसे कोई स्थिर सरकार नहीं मिली, लेकिन रघुवर दास जबसे मुख्यमंत्री बने हैं, तबसे विकास का एक नया इतिहास शुरू हुआ है.

नागरिकता विधेयक के खिलाफ नॉर्थ ईस्ट में विरोध प्रदर्शन, कई ट्रेनें रद्द, टाइम-टेबल भी बदला

चौहान ने कहा, ‘‘मैं पूरे विश्वास से कहता हूं कि झारखंड में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनेगी और झारखंड का ऐसा विकास करेगी कि लोग देखते रह जाएंगे.’’ उन्होंने कहा कि यह विधायक चुनने का चुनाव नहीं है, बल्कि झारखंड का भाग्य और भविष्य बनाने का चुनाव है. चौहान ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व. माननीय अटल बिहारी वाजपेयी ने जनता की मांग को पूरा कर झारखंड राज्य बनाया और रघुवर दास ने उसका चहुंमुखी विकास किया. ये गठबंधन वाले झारखंड का विकास नहीं कर सकते हैं. उन्होंने कहा, ‘‘मोदी जी राम हैं, अमित शाह जी हनुमान और रघुवर दास जी नल-नील हैं जो झारखंड के विकास के लिए संकल्पित हैं.’’

भाजपा नेता ने कहा कि धरती के प्राकृतिक संसाधनों पर गरीब आदिवासियों को बराबरी का हक दिलाने के लिए भाजपा ने गरीब आदिवासी परिवारों को सस्ता अनाज और रहने के लिए जमीन का मालिक बनाकर मकान बनाने की व्यवस्था की है. मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पारित होने पर प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को धन्यवाद देते हुए कहा कि जल्द ही यह बिल राज्यसभा में भी पास हो जाएगा. उन्होंने कहा कि अब पड़ोसी देश से आए किसी पीड़ित हिन्दू को जबरदस्ती वापस नहीं भेजा जाएगा. चौहान ने कहा, ‘‘हमारा शुरू से मानना है कि एक देश में दो विधान, दो निशान, दो प्रधान नहीं हो सकते. कश्मीर विलय का मामला नेहरू जी के हाथों में था, जिसका खामियाजा देश के लोग आज तक भुगत रहे थे. लेकिन प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने घाटी से अनुच्छेद 370 समाप्त कर इस गलती को सुधारा है.