जोधपुर। बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान को जोधपुर की एक अदालत ने दो काले हिरणों का अक्तूबर 1998 में शिकार करने मामले में पांच साल की कैद की आज सजा सुनाई. अदालत ने सलमान खान को पांच साल की कैद की सजा सुनाने के अलावा उन पर 10,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया है. अदालत ने उन्हें जोधपुर सेंट्रल जेल भेज दिया. सलमान के वकील ने कहा है कि सजा को निलंबित करने और जमानत के लिए सत्र अदालत में याचिका दायर की गई है. जमानत याचिका पर शुक्रवार सुबह सुनवाई होने की उम्मीद है.

सलमान के वकील आनंद देसाई ने मुंबई में कहा कि हालांकि वह अदालत के फैसले का सम्मान करते हैं लेकिन यह चौंकाने वाला है क्योंकि सलमान को पिछले मामलों में बरी कर दिया गया था, जिनमें इसी तरह के साक्ष्य थे. साथ ही, मौजूदा मामले में अदालत ने सभी पांच सह-आरोपियों को बरी कर दिया है. अदालत ने इस मामले में उनके सहयोगियों सैफ अली खान, सोनाली बेन्द्रे, तब्बू और नीलम और एक स्थानीय निवासी दुश्यंत सिंह को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया. ये सभी फैसले के तुरंत बाद मुंबई के लिए रवाना हो गए.

जोधपुर जेल में सलमान खान को खतरा, गैंगस्टर ने दी थी जान से मारने की धमकी

जोधपुर जेल में सलमान खान को खतरा, गैंगस्टर ने दी थी जान से मारने की धमकी

सलमान बने कैदी नंबर 106

फैसला सुनाते वक्त सलमान की बहनें अलवीरा और अर्पिता भी यहां मौजूद थींं और फैसला सुनते ही रो पड़े. सलमान भी मायूस हो गए और अपनी बहनों को गले लगा लिया. इसके बाद पुलिस ने उन्हें तुरंत हिरासत में ले लिया और जोधपुर जेल ले गई. यहां सलमान का मेडिकल कराया गया. उन्हें बैरक नंबर 2 में कड़ी सुरक्षा में रखा गया है. सलमान यहां कैदी नंबर 106 बने हैं. यहां उन्हें सामान्य कैदी की तरह रहना होगा और कोई वीआईपी ट्रीटमेंट नहीं मिलेगा. सुबह 10.30 बजे उनकी जमानत अर्जी पर सुनवाई होगी.

बोलेरो से ले जाया गया अदालत

सलमान खान (52) को अदालत परिसर से पुलिस की एक बोलेरो (एसयूवी) से जोधपुर सेंट्रल जेल ले जाया गया. सलमान को चौथी बार जोधपुर जेल ले जाया गया है. इसी जेल में कथावाचक आसाराम भी कैद है जो बलात्कार के मामले में आरोपी है. जेल सूत्रों ने बताया कि सलमान को बैरक नंबर दो में भारी सुरक्षा के बीच रखा गया है.

salman khan verdict on black buck case what told 9 years back | सलमान खान ने 9 साल पहले कहा था- मैंने हिरण को नहीं मारा, उसे बिस्किट खिलाए थे!

salman khan verdict on black buck case what told 9 years back | सलमान खान ने 9 साल पहले कहा था- मैंने हिरण को नहीं मारा, उसे बिस्किट खिलाए थे!

तीन बार 18 दिनों के लिए जा चुके हैं जेल

इससे पहले सलमान शिकार के मामले में ही कुल 18 दिनों के लिए तीन बार साल 1998, 2006 और 2007 में भी जोधपुर जेल में रह चुके हैं. गौरतलब है कि मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देव कुमार खत्री ने 1998 में हुई इस घटना के संबंध में 28 मार्च को मुकदमे की सुनवाई पूरी की थी. सलमान खान को अदालत ने वन्यजीव (संरक्षण) कानून के प्रावधान 9/51 के तहत दोषी करार दिया. इस कानून के तहत दोषी को अधिकतम छह साल कैद की सजा हो सकती है. दरअसल, काला हिरण एक विलुप्तप्राय जंतु है और वन्यजीव (संरक्षण) अधिनियम – 1972 की अनुसूची एक में शामिल है. सलमान पर आरोप है कि उन्होंने एक अक्तूबर 1998 को जोधपुर के निकट कांकाणी गांव के भागोडा की ढाणी में दो काले हिरणों का शिकार किया था. यह घटना ‘हम साथ साथ है’फिल्म की शूटिंग के दौरान की है.

सलमान चला रहे थे जिप्सी

अभियोजन के वकील ने बताया कि घटना की रात सभी आरोपी एक जिप्सी में सवार थे जबकि सलमान वाहन चला रहे थे. उन्होंने काला हिरणों का एक झुंड देखा और उनमें से दो को मार डाला. फैसला सुनाये जाने के वक्त अन्य आरोपी सिने कलाकार भी अदालत कक्ष में मौजूद थे. कुछ के परिजन भी साथ आये थे. अदालत अपील पर कल सुबह साढ़े दस बजे सुनवाई करेगी. गौरतलब है कि ‘हिट एंड रन’ के एक मामले में उन्हें बॉम्बे हाई कोर्ट ने बरी कर दिया था. लेकिन महाराष्ट्र सरकार ने इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर कर रखी है.