नई दिल्ली:काले धन पर बड़ा खुलास करते हुए केंद्र सरकार ने शुक्रवार को कहा कि एचएसबीसी बैंक की सूची में शामिल भारतीयों के खातों में 4,479 करोड़ रुपये जमा है और ऐसे 79 खाताधारकों के खिलाफ आयकर विभाग ने कार्रवाई शुरू कर दी है। विशेष जांच दल (एसआईटी) द्वारा काले धन पर दूसरी रपट के प्रासंगिक अंश को जारी करते हुए वित्त मंत्रालय ने कहा कि संबंधित अधिकारी भारत के भीतर 14,957.95 करोड़ रुपये अघोषित संपत्ति से जुड़े मामले की भी जांच कर रहे हैं।

जहां तक विदेशी खातों में फंसे धन का मामला है, उपरोक्त खुलासा उन 628 भारतीयों से जुड़ा है, जिनके नाम एचएसबीसी की जेनेवा शाखा में खाताधारकों की सूची में आया था, जिसे भारत ने फ्रांस से हासिल किया था। सर्वोच्च न्यायालय को एसआईटी द्वारा सौंपी रपट के मुताबिक, इनमें से 289 खातों में कोई राशि जमा नहीं पाई गई।

बयान के मुताबिक, 628 लोगों में से 201 या तो अप्रवासी हैं या उनकी पहचान नहीं हुई है, जबकि 427 मामले कार्रवाई करने योग्य हैं। बयान के मुताबिक, “46 मामलों में आयकर अधिनियम, 1961 के तहत कार्रवाई शुरू कर दी गई है। इस तरह का जुर्माना अब तक तीन मामलों में लगाया जा चुका है। अन्य मामलों में कार्रवाई लंबित हैं।”

कहा गया है, “अन्य मामलों में आने वाले महीनों में प्रगति की उम्मीद है।” दिन की शुरुआत में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि एचएसबीसी की सूची से संबंधित मामलों पर कार्रवाई अगले वर्ष 31 मार्च तक पूरी कर ली जाएगी।