पेरिस. इस सदी का सबसे लंबा ‘ब्लड मून’ चंद्रग्रहण शुक्रवार को दिखेगा. इसके साथ ही रक्ताभ ग्रह मंगल 15 साल में उसके सबसे नजदीक होगा. यह नजारा जिंदगी में कभी कभार ही और वह भी किसी-किसी को ही देखने को मिलता है. वैज्ञानिकों का कहना है कि तारों और सितारों के शौकीनों को इस नजारे के लिए कोई एहतियात बरतने की जरूरत नहीं है. वे नंगी आंख से इसका नजारा कर सकते हैं.

किस तरह देखें
‘ब्लड मून’ (Blood Moon) और मंगल ग्रह की इस अद्भुत जुगलबंदी को कैसे देखें? लंदन के रॉयल ऐस्ट्रोनोमिकल सोसाइटी ने इसका बहुत आसान सा जवाब दिया है, ‘आपको बस इतना करना है … बाहर जाना है.’’ आधी दुनिया के लिए अंतरराष्ट्रीय समयानुसार चांद 17.14 बजे से 23.28 बजे तक , छह घंटे 14 मिनट तक के लंबे काल तक आंशिक रूप से या पूरी तरह धरती की प्रच्छाया में होगा.

इस समय लगेगा ग्रहण
पूर्ण चंद्रग्रहण अंतरराष्ट्रीय समयानुसार 1930 बजे से 2113 मिनट तक होगा. रॉयल ऐस्ट्रोनोमिकल सोसाइटी ने कहा, ‘‘पूर्ण चंद्रग्रहण 103 मिनट तक होगा, जो इस 21 वीं सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण होगा.’’ धरती से महज 5 करोड़ 77 लाख किलोमीटर दूरी पर सूर्य के गिर्द अपनी वलयाकार कक्षा में चांद असाधारण रूप से बड़ा और चमकीला दिखेगा.

ऐसा दिखेगा चांद
पेरिस वेधशाला के खगोलविद पास्कल देसकैंप्स ने बताया कि चांद तांबई लाल रंग का दिखेगा जबकि उससे लगा ‘रक्ताभ ग्रह’ बेहद चमकीला होगा और हल्की नारंगी रंगत लिए होगा. रॉयल ऐस्ट्रोनोमिकल सोसाइटी ने चंद्रग्रहण के बेहतर नजारे के लिए साधारण बाइनाकुलर इस्तेमाल करने की सलाह दी है.