नई दिल्ली: मोदी सरकार पर तीखे हमले करते हुए कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने बुधवार को कहा कि ‘धोखा, डींग और धमकी’ इनके शासन के सिद्धांत हैं और कांग्रेस अपने राजनीतिक प्रतिद्वद्वियों से पूरी ताकत से लड़ेगी.कांग्रेस संसदीय दल की बैठक को संबोधित करते हुए सोनिया गांधी ने अपने बेटे और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की जमकर तारीफ भी की. उन्होंने कहा कि राहुल संगठन में नई ऊर्जा लेकर आए हैं और उन्होंने ऐसी टीम बनाई है जिसमें अनुभव और युवा जोश का सही तालमेल है. Also Read - पीएम मोदी और डोनाल्‍ड ट्रंप के बीच भारत-चीन बॉर्डर की स्थिति को लेकर हुई बातचीत

उन्होंने कहा, ‘हम नए आत्मविश्वास और निश्चय के साथ आगामी लोकसभा चुनाव में उतर रहे हैं. राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में हमारी जीत ने नई आशा दी है. इस बैठक में अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद सहित अन्य लोग शामिल हुए. Also Read - Cyclone Nisarga: महाराष्ट्र CM उद्धव ठाकरे की अपील, अगले दो दिनों तक घर के अंदर ही रहें लोग

उन्होंने कहा, ‘हमारे प्रतिद्वंद्वियों को पहले अजेय बताया जाता था. कांग्रेस अध्यक्ष ने सामने से डटकर उनका मुकाबला किया, हमारे लाखों कार्यकर्ताओं को प्रेरित किया जिन्होंने उनके साथ मिलकर अपना सबकुछ दिया. मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए सोनिया गांधी ने कहा, ‘हमारे लोकतांत्रिक गणराज्य, धर्मनिरपेक्ष गणराज्य की नींव पर मोदी सरकार योजनाबद्ध तरीके से हमले कर रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार द्वारा संविधान के मूल्यों, सिद्धांतों और प्रावधानों पर लगातार हमले किए जा रहे हैं. Also Read - Cyclone Nisarga: प्रधानमंत्री ने की महाराष्ट्र, गुजरात के मुख्यमंत्रियों से बात, हर संभव मदद का दिया भरोसा

संप्रग अध्यक्ष ने कहा, ‘संस्थाओं को बर्बाद किया जा रहा है, राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को निशाना बनाया जा रहा है, असहमत लोगों को दबाया जा रहा है और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का गला घोंटने का प्रयास किया जा रहा है. सोनिया गांधी ने आरोप लगाया, ‘धोखा, डींग और धमकी मोदी सरकार के शासन के सिद्धांत बने हुए हैं. सच्चाई और पारदर्शिता को एकदम दरकिनार कर दिया गया है. उन्होंने दावा किया कि देश में डर और संघर्ष का माहौल बना हुआ है.

कांग्रेस सांसदों ने राफेल सौदे पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बुधवार को संसद के बाहर प्रदर्शन किया. पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस के सांसदों ने कागजों के विमानों और पोस्टरों के साथ प्रदर्शन किया. संप्रग की अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी परिसर में गांधी की प्रतिमा के पास किए इस प्रदर्शन में नजर आएं.