Mumbai:  कोरोना काल में तमाम जागरूकता अभियान और मास्क पहनने की अपील के बावज़ूद कुछ लोग ऐसे होते हैं जो नियमों को ताक पर रखना अपनी शान समझते हैं. मुंबई के अंधेरी इलाके में भी कुछ ऐसे लापरवाह लोग जो बिना मास्क के सड़क पर घूम रहे थे, उनसे बीएमसी ने सज़ा के रूप में कोविड केयर सेंटर के पास की सड़क पर झाड़ू लगवाया और घास फूस कटवाकर साफ सफाई करवाई.कुछ लोगों को बुजुर्गों की सेवा का काम भी सौंपा गया.Also Read - Input Tax Credit Racket: मुंबई में 35 करोड़ रुपए के फर्जी इनपुट टैक्स क्रेडिट रैकेट का किया गया भंडाफोड़

बीएमसी ने कहा-जो लोग नहीं मानते, उन्हें सबक सिखाना जरूरी Also Read - क्‍या शिवसेना कांग्रेस के नेतृत्‍व वाले UPA में होगी शामिल? संजय राउत ने दिया ये जवाब

सुरेश कांकाणी, अतिरिक्त आयुक्त , बीएमसी ने बताया कि वैसे तो बिना मास्क के घूमने वालों से बीएमसी 200 रुपए का जुर्माना वसूलती है. इस तरह करीब 1.50 लाख लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर बीएमसी तीन करोड़ रुपए का दंड वसूल चुकी है. लेकिन कई लोग ऐसे होते हैं जिन पर इसका भी असर नहीं होता है. ऐसे लोगों को सबक सिखाने के लिए बीएमसी ने इनसे सार्वजनिक जगहों पर साफ सफाई करवाई. Also Read - Maharashtra Omicron Update: 30 हजार यात्र‍ियों की COVID19 स्‍क्रीनिंग में अब तक 10 ओमीक्रोन पॉजिटिव मिले

1000 रुपये तक लग सकता है जुर्माना

महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा था कि सरकार मास्क नहीं पहनने वालों पर 1,000 रुपये का भारी जुर्माना लगाने के बारे में सोच रही है. वह यहां पास के पिंपरी-चिंचवाड़ क्षेत्र में एक कोविड-19 अस्पताल के उद्घाटन के अवसर पर बोल रहे थे.

वर्तमान में, राज्य में मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना 200 रुपये से 500 रुपये तक है. पवार ने कहा कि लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सामाजिक दूरी के नियम का पालन करना चाहिए और मास्क का उपयोग करना चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘‘राज्य में कई ऐसे स्थान हैं जहाँ लोग मास्क का इस्तेमाल उस तरह से नहीं करते हैं जैसा कि उम्मीद की जाती है. हम अब पुणे शहर, पिंपरी चिंचवाड़ और जिले में मास्क का उपयोग नहीं करने वालों पर 1,000 रुपये का जुर्माना लगाने की सोच रहे हैं.’’