श्रीनगर। कश्मीर के शोपियां से गुरुवार सुबह अगवा किए गए जवान औरंगजेब खान की आतंकियों ने हत्या कर दी है. औरंगजेब का शव पुलवामा के गुसू इलाके से बरामद हुआ. वह ईद की छुट्टी मनाने घर जा रहे थे तभी आतंकियों ने गाड़ी से उतारकर उन्हें अगवा कर लिया. उन्हें सुबह 9 बजे अगवा किया गया था. उनके शरीर पर गोलियों के कई निशान मिले हैं. औरंगजेब आतंकी समीर टाइगर को मारने वाली टीम में शामिल थे. उनकी हत्या सेना के लिए बड़ा झटका है जिसने ऑपरेशन ऑल आउट में अधिकतर टॉप आतंकियों को ढेर कर दिया है.

ईद पर जा रहे थे घर

जानकारी के मुताबिक, सेना में राइफलमैन औरंगजेब की पोस्टिंग 44 आरआर शादीमार्ग में थी. वह पुंछ के ही रहने वाले थे. ईद की छुट्टी पर वह प्राइवेट गाड़ी से घर की तरफ जा रहे थे. इसी दौरान रास्ते में मुगल रोड के पास आतंकियों ने गाड़ी रुकवाकर उन्हें किडनैप कर लिया. घटना सुबह 9 बजे की थी.

समीर टाइगर को मारने वाली टीम में थे

बता दें कि इसी साल अप्रैल महीने में आतंकी समीर टाइगर को सेना ने मार गिराया था. जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों और पुलिस ने संयुक्त ऑपरेशन में उसे ढेर किया था. हिज्बुल मुजाहिद्दीन कमांडर समीर टाइगर सेना की हिटलिस्ट में लंबे समय से था. मुठभेड़ में उसका एक साथी भी ढेर हुआ था.

आज ही एडिटर शुजात बुखारी की भी हत्या

ईद से ठीक दो दिन पहले जम्मू कश्मीर के लिए गुरुवार का दिन बेहद अशुभ रहा. शाम को आतंकियों ने श्रीनगर की प्रेस कॉलोनी में राइजिंग कश्मीर के एडिटर शुजात बुखारी की भी गोली मारकर हत्या कर दी. वह इफ्तार पार्टी के लिए कहीं रवाना हो रहे थे तभी हमलावरों ने उनकी गाड़ी घेरकर गोलियों की बौछार कर दी. हमले में उनके दो पीएसओ भी मारे गए. जब लोग इस सदमे में डूबे हुए थे तभी औरंगजेब की खबर आई कि उनका शव पुलवामा में बरामद हुआ है. इस तरह एक दिन में दो बड़े झटके लगे वो भी तब जब एक दिन बाद शुक्रवार को ईद मनाई जाएगी.