नई दिल्ली। अर्जेंटीना के फुटबॉल कप्तान लियोनेल मेसी के फैन डीनू जोसेफ का शव कोट्टायम के इल्लीक्कल ब्रज से बरामद हुआ है. जोसेफ 22 जून से ही गायब थे. वह फीफा वर्ल्ड कप 2018 के एक मैच में अर्जेंटीना को क्रोएशिया के हाथों मिली 3-0 की हार से दुखी थे और उसी दिन से गायब थे. Also Read - कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में आगे आए दिग्गज फुटबॉलर रोनाल्डो, मेसी

22 जून से थे गायब Also Read - 15 देशों के राजनयिक कश्मीर के मौजूदा हालात जानने के लिए श्रीनगर पहुंचे

पुलिस ने बताया कि डीनू जोसेफ शुक्रवार 22 जून को सुबह 5 बजे से ही गयाब थे. जाने से पहले उन्होंने एक नोट भी छोड़ा था जिसमें उन्होंने लिखा था कि वह अर्जेंटीना की हार से बेहद दुखी हैं और अपना जीवन खत्म करने जा रहे हैं. नोट में लिखा है कि मेरे पास इस दुनिया में अब देखे जाने लायक कुछ नहीं बचा है. मैं गहराई में जा रहा हूं. Also Read - रोनाल्डो को पछाड़ लियोनल मेसी ने रचा इतिहास, रिकॉर्ड छठी बार जीता ये खिताब

कोट्टायम के निकट अरुमनूर गांव के रहने वाले जोसेफ को उनके परिवार वालों ने तब देखा था जब वह घर पर फुटबॉल मैच देख रहे थे. पिता ने बताया कि जोसेफ लियोनेल मेसी का जबरदस्त फैन था.

नदी में कूदकर दी जान

पीटीआई के मुताबिक, जोसेफ ने संभवत नदी में कूदकर जान दे दी. पुलिस ने बताया कि फायर और बचाव दल को जोसेफ को ढूंढ़ने के काम में लगाया गया था. स्निफर डॉग को भी तलाश में लगाया गया था जो नदी किनारे जाकर रुक गए. खास बात ये है कि डीनू जोसेफ की मौत उसी दिन हुई जिस दिन उनके सबसे बड़े आदर्श मेसी का 31वां जन्मदिन था.

मेसी इस वर्ल्ड कप में अब तक बेहद फीके साबित हुए हैं और उनकी टीम को दो मैचों में सिर्फ एक अंक मिला है. अब उसे आखिरी 16 में जगह बनाने के लिए न सिर्फ नाइजीरिया को हराना होगा बल्कि दूसरे मैचों के नतीजों पर भी निर्भर रहना पड़ेगा.