समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने बोफोर्स तोपों को लेकर एक नया खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि यूनाइटेड फ्रंट की सरकार में जब वह रक्षा मंत्री थे तो जानबूझकर बोफोर्स की फाइल गायब कर दी थी और इसको आगे बढ़ाने में देरी भी की थी। Also Read - शिवपाल ने मुलायम कुनबे में एकता का राग अलापा, कहा- अखिलेश को फिर से सीएम के रूप में देखने की चाहत

लखनऊ में राम मनोहर लोहिया लॉ यूनिवर्सिटी के एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि, ‘जब मैं खुद सीमावर्ती इलाके में गया और मैंने देखा कि बोफोर्स ठीक से काम कर रही है तो मेरे मन में पहला विचार आया कि राजीव जी ने बढ़ि‍या काम किया है। यही कारण है कि मैंने फाइल गायब कर दी थी।’ यह भी पढ़े: अमेरिका से भारत की डील, 47 अरब रुपये में 145 हॉवित्जर तोपें खरीदेगा Also Read - मुलायम सिंह यादव की बिगड़ी तबियत, लखनऊ के पीजीआई अस्पताल में भर्ती

सपा प्रमुख मुलायम ने आगे कहा कि, ‘तब मैंने फैसला किया कि बोफोर्स फाइल के मामले में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए और पहले यह पता लगाना चाहिए कोई मुकदमेबाजी में तो नहीं उलझ रहा है।’ Also Read - गेस्ट हाउस कांड में 24 साल पहले लिए अपने निर्णय में मायावती ने उठाया यह नया कदम

यादव ने कहा कि लोग यह कहते हैं कि बोफोर्स राजीव गांधी की गलती थी, लेकिन रक्षा मंत्री के तौर पर उन्होंने देखा कि यह ठीक से काम कर रही थीं और राजीव ने अच्छा काम किया।

मुलायम सिंह ने कहा, ‘सब लोग नहीं समझ सकते कि कोई राजनेता किन परिस्थितियों में काम करता है। लोग मंत्रियों को प्रतिकूल परिस्थितियों में याद करते हैं और इस पर उन्हें प्रतिक्रिया भी मिलती है, लेकिन कभी किसी आईएएस ऑफिसर से कुछ पूछकर देखिए तब पता चलेगा।’