नई दिल्ली. दिवाली के त्योहार को लेकर देश के सभी इलाकों में उमंग और उल्लास का माहौल है. दिल्ली में जहां सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रदूषण को देखते हुए पटाखे जलाने की समय-सीमा निर्धारित की गई है. वहीं देश के अन्य भागों में लोग दिवाली से एक दिन पहले ही दिवाली का त्योहार आने की खुशियां मना रहे हैं. आम लोगों के साथ-साथ देश की सीमा पर तैनात सैन्यबलों के जवान भी दीपों के इस त्योहार का जश्न मनाने में पीछे नहीं हैं. सीमा सुरक्षा बल यानी BSF के जवान पाकिस्तान से लगे अटारी-बाघा बॉर्डर (Attari-Wagah border) पर दिवाली मना रहे हैं. जवानों ने दिवाली से पहले ही मंगलवार की रात फूलझड़ियां जलाई और एक-दूसरे के साथ त्योहार की खुशियां शेयर की. BSF के अलावा भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के जवानों ने भी सीमा पर ही दिवाली का त्योहार मनाया. Also Read - COVID-19 के चलते NSG कमांडो गणतंत्र दिवस पर नहीं करेंगे शोल्‍डर टू शोल्‍डर मार्च पास्‍ट

अटारी-बाघा बॉर्डर पर सीमा सुरक्षा बल के जवानों को दिवाली मनाते हुए देखना अपने आप में रोमांचित कर देने वाला पल रहा. क्योंकि एक तरफ जहां देशवासी अपने घरों में परिजनों के साथ खुशियों का त्योहार मनाने की तैयारी कर रहे हैं, वहीं देश की सीमा पर मुस्तैदी से डटे ये जवान अपने घर-परिवार से दूर साथियों के साथ रोशनी के उत्सव को सेलिब्रेट कर रहे हैं. इस लिहाज से BSF के जवानों का यह दिवाली उत्सव सही मायनों में खास महत्व रखता है.

देश में अलग-अलग इलाकों में तैनात सुरक्षाबलों के जवानों द्वारा भी दिवाली मनाए जाने की खबरें और तस्वीरें आई हैं. इंडो-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के कई जवान अभी बर्फीले पहाड़ पर देश की रखवाली कर रहे हैं. इन जवानों ने मंगलवार को लद्दाख के खारडुंग ला में दिवाली का त्योहार मनाया. ITBP के जवानों ने बर्फ से ढंके पहाड़ पर मोमबत्तियां जलाकर दिवाली की खुशियां एक-दूसरे के साथ सेलिब्रेट की. जवानों ने बर्फ से ढंकी पहाड़ की चोटी पर दीप जलाए और साथियों के संग दिवाली की खुशियां मनाईं.