नई दिल्ली| ब्रह्मोस एयरोस्पेस लिमिटेड जल्द ही ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल के हवाई मॉडल का पहला परीक्षण करने की तैयारी में है. यह विश्वस्तरीय हथियार प्रणाली है जो अपनी मारक क्षमता से दुश्मन को चौंका सकती है. जून में एक एयरक्राफ्ट से इसका परीक्षण किया जाएगा.

रक्षा सूत्रों के अनुसार सुखोई-30 एमकेआई लड़ाकू विमान जल्द ही हथियारों से लैस हो जाएगा. हवाई मॉडल के तैयार होने के बाद इसके दो टेस्ट होंगे और उसके बाद यह विमान किसी भी समय मार करने के लिए तैयार रखा जाएगा. यदि प्लान के हिसाब से सबकुछ सही रहा तो जून में एयरक्राफ्ट से मिसाइल लांच की जाएगी. ट्रायल के लिए एयरफोर्स ने दो एयरक्राफ्ट तय कर लिए हैं.

यदि टेस्ट सफल रहा तो ब्रह्मोस इस तरह की क्षमता वाला विश्व का पहला हथियार होगा जो पानी, हवा और जमीन तीनों जगह से मार करने में सक्षम हो. ब्रह्मोस मिसाइल को भारत और रूस ने मिलकर बनाया है और यह 300 किलोग्राम तक हथियार ले जाने में सक्षम है.

रक्षा सूत्रों ने बताया कि ब्रह्मोस एयरोस्पेस ने मिसाइल के हवा में मार करने वाले मॉडल के वजन को भी कम किया है और सुखोई विमान में आसानी से फिट हो सके इसके लिए सुखोई और मिसाइल दोनों के डिजाइन में भी बदलाव किए गए हैं.