नई दिल्ली: भारतीय रेलवे ने शुक्रवार को एक बड़ा बदलाव करते हुए कहा है कि राजधानी ट्रेन के मार्ग पर चलने वाली 15 जोड़ी विशेष ट्रेनों में अग्रिम आरक्षण की अवधि को मौजूदा सात दिन से बढ़ाकर 30 दिन कर दिया गया है. यानी अब इन ट्रेनों के लिए आप 30 दिन पहले रिजर्वेशन करा सकेंगे. रेलवे ने अपने एक बयान में कहा कि टिकटों की बुकिंग डाकघरों और यात्री टिकट सुविधा केन्द्रों समेत कंप्यूटरीकृत पीआरएस काउंटरों के साथ-साथ ऑनलाइन भी की जा सकती है. रेलवे ने ये भी कहा है कि टिकटों की बुकिंग में हुए ये बदलाव 31 मई से शुरू होने जा रहीं विशेष ट्रेनों के लिये भी लागू हैं. Also Read - कोरोना संकट के बीच भारत का विदेशी पूंजी भंडार 3.4 अरब डॉलर बढ़ा

रेल मंत्रालय के कार्यकारी निदेशक राजेश दत्त बाजपेयी ने जानकारी देते हुए कहा कि 12 मई से चल रहीं 15 जोड़ी स्पेशल एसी ट्रेनों के एडवांस रिजर्वेशन पीरियड (ARP) को 7 दिन से बढ़ाकर 30 दिन किया गया है. उन्होंने कहा कि इन ट्रेनों में कोई तत्काल बुकिंग नहीं होगी. इन ट्रेनों में लागू निर्देशों के अनुसार आरएसी / वेटिंग लिस्ट टिकट जारी किए जाएंगे. हालांकि वेटिंग लिस्ट वाले यात्रियों को इन ट्रेनों में चढ़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी. Also Read - महाराष्ट्र में कोरोना से एक दिन में रिकॉर्ड 139 लोगों की मौत, 80 हजार के पार पहुंची संक्रमितों की संख्या

बता दें कि रेलगाड़ियों से यात्रा करने के इच्छुक यात्रियों को राहत देते हुए रेलवे ने अब रिजर्वेशन टिकट काउंटर फिर से खोलने का फैसला लिया है. साथ ही कहा है कि सामुदायिक सेवा केंद्रों व एजेंटों को भी टिकट बुकिंग की अनुमति दी जाएगी. रेलवे ने एक जून से और 200 स्पेशल ट्रेनों के परिचालन की घोषणा के मद्देनजर यह फैसला लिया है. आज (शुक्रवार) से यात्री रिजर्वेशन टिकट कॉमन सर्विस सेंटर और टिकट एजेंटों से भी टिकट प्राप्त कर सकेंगे. फिलहाल राज्य सरकारों की मांग पर श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन प्रोटोकॉल के अनुसार यथावत जारी रहेगा. Also Read - दिल्ली में कोरोना संक्रमण से मुक्त होने की दर घटी, पिछले 10 दिनों के आंकड़ों में हुआ खुलासा

इससे पहले रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को ऐलान किया था कि रेलवे विभाग एक जून से 200 गैर वातानुकूलित विशेष रेलगाड़ियों का संचालन शुरू करने जा रहा है. उन्होंने बताया कि इन नान एसी ट्रेनों के लिए टिकट की बुकिंग जल्द शुरू होगी. यह घोषणा 15 जोड़ी स्पेशल एसी ट्रेनें चलाने के एक हफ्ते बाद की गई है.