नई दिल्ली: कोरोना वायरस के चलते देश में 24 मार्च से लॉकडाउन है. इतने समय से लॉकडाउन के बाद भी कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं. इस बीच एम्स, दिल्ली के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने बड़ा बयान दिया है. डॉ. रणदीप ने कहा कि कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं. COVID-19 जून और जुलाई में भारत में अपने चरम पर होगा. Also Read - AIIMS Entrance Exam 2020: एम्स एंट्रेंस एग्जाम इस तारीख को होगा आयोजित, कल जारी किया जाएगा एडमिट, जानें डिटेल

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार डॉ. गुलेरिया ने कहा कि कोरोना के बढ़ने का स्वभाव और जिस तरह से मामले बढ़ रहे हैं, उसे देखें तो लगता है कि जून-जुलाई में ये चरम पर होगा. उन्होंने कहा कि इसलिए समय आने पर ही पता चलेगा कि आखिर लॉकडाउन का कितना फायदा हुआ. Also Read - दिल्ली के सभी बॉर्डर सील, एंट्री के लिए आपके पास होना चाहिए यह पास

बता दें कि देश में कोरोना वायरस (Corona Virus in India) के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. जब 24 मार्च को लॉकडाउन की घोषणा हुई थी तब कोरोना के करीब 500 मामले थे. दो बार लॉकडाउन बढ़ाया जा चुका है. और इसके साथ ही कोरोना वायरस के मामले भी देश में 52 हज़ार से अधिक हो चुके हैं. जबकि 1700 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. देश के लगभग सभी राज्य कोरोना की चपेट में हैं. महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश और दिल्ली सबसे अधिक प्रभावित हैं. इसके साथ ही उत्तर प्रदेश में भी काफी मामले सामने आ चुके हैं. लॉकडाउन 17 मई तक है. जल्दी हालात ठीक होंगे, इसे लेकर असमंजस बना हुआ है. लोगों को लगता है कि लॉकडाउन एक बार फिर बढ़ाया जा सकता है, इसके अलावा कोई और रास्ता नज़र नहीं आ रहा है. Also Read - मध्य प्रदेश: कोरोना संक्रमण का आंकड़ा 8,283 तक पहुंचा, 385 में सबसे ज्यादा मौतें इंदौर में