नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में 30 जून तक भीड़ के जमा होने पर पाबंदी लगा दी गई है. उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कहीं भी भीड़ एकत्रित न हो, इस बात का पालन किया जाए. केंद्र सरकार द्वारा लॉकडाउन 3 मई तक है. गृह मंत्रालय ने देश भर में हॉटस्पॉट इलाकों को छोड़ कई दुकानें खोलने के आदेश दिए हैं. वहीं, योगी सरकार ने 30 जून तक भीड़ के एकत्रित होने पर पाबंदी लगाई है. सीएम योगी ने कहा कि फिलहाल ये फैसला लिया गया है, आगे जैसे भी हालात बनेंगे, उसी आधार पर फैसला किया जाएगा. Also Read - UP: इटावा लॉयन सफारी में दो शेरनियां COVID-19 से पॉजिटिव मिली, आइसोलेशन में रखीं गईं

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों के साथ मीटिंग की. और ज़रूरी दिशा निर्देश दिए. सीएम योगी एक आज से शुरू हुए रमज़ान की मुबारकबाद दी थी. सीएम योगी ने अपील की थी कि ‘मुस्लिम भाई घरों में ही रहकर धार्मिक कार्य संम्पन्न करें. उन्होंने कहा था कि उ.प्र. समरसता, भाई-चारे और सांस्कृतिक एकता की मिसाल है. इसी विरासत और परंपरा को अक्षुण्ण रखते हुए कोरोना संक्रमण के मद्देनजर मुस्लिम भाई घरों में रहकर ही धार्मिक कार्य संपन्न करें. यह सुनिश्चित किया जाए कि कहीं पर भी भीड़ या अन्य कोई कार्यक्रम आयोजित न हों. Also Read - Complete Lockdown in Karnataka : कर्नाटक में लगा पूर्ण लॉकडाउन, जरूरी सेवाओं को छोड़कर किसी को भी बाहर निकलने की इजाजत नहीं | देखें गाइडलाइन

सीएम योगी ने ये भी कहा था कि रमजान के पवित्र दिनों में रोजा, मानवता की सेवा, ईश्वर की बन्दगी जैसे नेक कार्यों से धैर्य, आत्म अनुशासन, सहनशीलता, सादगी आदि मूल्यों को बढ़ावा मिलता है. Also Read - Lockdown in Maharashtra Update: महाराष्ट्र के इस जिले में छह दिनों के लिए लगा लॉकडाउन, सख्त पाबंदियां लगाई गईं

बता दें कि उत्तर प्रदेश में अब तक करीब कोरोना वायरस के लगभग 1700 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 26 लोगों की मौत हो चुकी है. पूरे देश में 3 मई तक लॉकडाउन है. यूपी के आगरा सहित कई इलाके हॉटस्पॉट बने हुए हैं.