नई दिल्ली: स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने शनिवार को कहा कि 17 राज्यों में तबलीगी जमात से संबंधित लोगों में 1023 लोग कोरोना पॉजिटिव पाये गए हैं. कुल मामले में 30 प्रतिशत एक जगह से संबंधित हैं. इसके
साथ ही तबलीगी जमात से जुड़े 22 हजार लोगों को विभिन्न राज्यों में क्वारेंटीन किया गया है. सरकार ने लोगों से अपील की है हमें हर स्तर पर एक ही प्रयास करना चाहिए कि मिलकर काम करें और कहीं चूक न हो. Also Read - आक्रामक स्वभाव के लिए मशहूर कगीसो रबाडा ने कहा- मैं जल्दी आपा नहीं खोता हूं

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, 9 प्रतिशत कोरोना के मरीज 0 से 20 साल की उम्र के बीच हैं. 42 प्रतिशत लोग 20-40 के बीच आयु के लोग हैं , जबकि 33 प्रतिशत लोग 40-60 के बीच के हैं. 17 प्रतिशत मरीज 60 साल के
ऊपर के हैं. लव अग्रवाल ने बताया कि डेथ रिपोर्ट के मुताबिक, इनमें ज्यादातर मौतें उम्र या फिर कई अन्य बीमारियां मौत की वजह रही हैं. उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा, “हाई रिस्क लोग सरकार के निदेशरें का पालन
करें. सरकार के कदम सफल साबित हो रहे हैं. लेकिन हम एक संक्रामक बीमारी का सामना कर रहे हैं,अगर चूक हुई तो स्थिति खराब हो सकती है.” Also Read - महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से अब तक 3,000 की मौत, मामले 83,000 के करीब पहुंचे

अग्रवाल ने कहा, “कोरोना के खिलाफ मिलकर लड़ाई लड़नी है. एक्शन प्लान को लेकर गाइडलाइन जारी की गई है. मुंह ढकने को लेकर एडवाइजरी की गई है. टेस्टिंग बढ़ाने पर हमारा जोर है.” मंत्रालय के मुताबिक, देशभर में अब
तक कोरोना के मरीजों की संख्या 2992 है. अब तक 68 लोगों की मौत हुई है, जबकि 183 लोग ठीक हो गये हैं. ये आंकड़े शनिवार सुबह 9 बजे तक के हैं. Also Read - वैज्ञानिकों ने किया हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा का विश्लेषण, कोरोना मरीजों के इलाज में नहीं दिखा इस दवा का खास फायदा

ध्यान रहे कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन जारी है, जो 14 अप्रैल तक चलेगा. इस बीच भारत में फंसे 112 फ्रेंच नागरिकों को एयर इंडिया के विशेष विमान से पेरिस ले जाया जा रहा है. विमान ने शनिवार सुबह उड़ान भरी है. यह विमान पहले मुंबई जाएगा और फिर वहां से सीधे पेरिस के लिए उड़ान भरेगा. यह सभी फ्रेंच नागरिक कोच्चि, बेंगलुरु और मुंबई में फंसे थे.