नई दिल्ली: कोरोना वायरस के चलते दिल्ली सरकार ने बच्चों के लिए बड़ा फैसला किया है. दिल्ली सरकार ने पांचवीं कक्षा तक के सभी स्कूलों को बंद करने के आदेश दिए हैं. बच्चों को कोरोना से बचाने के लिए एहतियातन ऐसा किया गया है. 6 मार्च से 31 मार्च तक प्राइवेट और सरकार सभी प्राइमरी स्कूलों से पांचवीं तक के बच्चों की छुट्टी रहेगी. दिल्ली सरकार के डिप्टी सीएम मनीषा सिसोदिया ने कहा कि सभी स्कूलों को एडवाइजरी जारी कर दी गई है. पांचवीं तक के बच्चों को 31 मार्च तक स्कूल जाने की ज़रूरत नहीं है. Also Read - कोरोना वायरस से बचना है तो रोजाना पीएं पालक का जूस, इम्युनिटी बढ़ाने के अलावा और भी हैं कई फायदे

बता दें कि देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. गाजियाबाद में कोरोना वायरस का एक और मरीज मिला है. शख्स में कोरोना की पुष्टि हो गई है. शख्स में कोरोना के लक्षण पाए गए हैं. इसके साथ ही देश में कोरोना की चपेट में आने वाले मरीजों की संख्या 30 पहुंच गई है. इससे पहले गाजियाबाद से सटे नोएडा और दिल्ली में एक मामला सामने आ चुका है. एक दिन पहले ही इटली से आए 16 लोगों में कोरोना मिला था. Also Read - मास्क ना पहनने पर भड़का मकान मालिक, पहले एक्टर के ऊपर छींका फिर खांसने लगा

महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस ने अब भारत में अपना कहर बरपाना शुरू कर दिया है, जहां बुधवार को इससे संक्रमित लोगों की संख्या अचानक बढ़कर 30 हो गई. संक्रमित लोगों में 16 इतालवी पर्यटक हैं. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के कार्यालय ने कहा कि इस बार राष्ट्रपति भवन में होली मिलन समारोह का आयोजन नहीं किया जाएगा. वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वह होली का त्योहार नहीं मनाएंगे और किसी भी ‘होली मिलन’ समारोह का आयोजन नहीं किया जाएगा. Also Read - सोनू सूद से एक यूजर ने कहा- घर में फंसा हूं, ठेके तक पहुंचा दो, फिर जो हुआ...

Coronavirus: जानें किस तरह फैलता है जानलेवा कोरोना वायरस, कैसे कर सकते हैं अपना बचाव?

कोरोना से दुनिया भर में 3100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी हैं. इसमें से अकेले चीन में ही 2900 से अधिक की मौत हुई है. ईरान में भी 90 लोगों की मौत हुई है, जबकि इटली में 107 लोगों की मौत हुई है. अमेरिका में भी मौत के कुछ मामले सामने आए हैं. कोरोना वायरस दुनिया के करीब 80 देशों में पहुंच चुका है.