नई दिल्ली: बीते 24 घंटों के दौरान दिल्ली में कोरोनावायरस के रोगियों का फिर एक नया रिकॉर्ड बना है. दिल्ली में एक दिन में 1163 नए कोरोना रोगी मिले हैं. राष्ट्रीय राजधानी में एक दिन में कोरोनावायरस मामलों की यह सर्वाधिक संख्या है. इसके अतिरिक्त दिल्ली में बीते 24 घंटों में 18 लोगों की कोरोनावायरस से मौत भी हुई है. दिल्ली सरकार द्वारा जारी कोरोना स्वास्थ्य बुलेटिन के मुताबिक, शहर में अभी तक कोरोनावायरस से 416 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है. दिल्ली में कुल 18549 व्यक्ति कोरोनावायरस की चपेट में आ चुके हैं. इनमें से कुल 8075 व्यक्ति अभी तक कोरोनावायरस से ठीक हुए हैं. बीते 24 घंटों के दौरान 229 व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं. दिल्ली में फिलहाल 10058 कोरोनावायरस के सक्रिय मामले हैं.Also Read - Coronavirus Update: WHO ने फिर चेताया, कहा- 'कोरोना वायरस कभी भी पूरी तरह से समाप्त नहीं होगा लेकिन...'

दिल्ली सरकार के अनुसार, 5139 कोरोना पॉजिटिव रोगियों को उनके घरों में ही आइसोलेशन में रखा गया है. इन लोगों को स्वास्थ्य संबंधी कोई बड़ी समस्या नहीं है. सभी को घरों के अंदर आइसोलेशन में रहने को कहा गया है. साथ ही इस दौरान ये लोग लगातार फोन के माध्यम से डॉक्टरों के संपर्क में रहेंगे. Also Read - रक्षा मंत्री Rajnath Singh के बेटे और Noida से विधायक Pankaj Singh कोरोना वायरस से संक्रमित

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, 14 मई को दिल्ली में 8500 केस थे और 15 दिनों में मामले बढ़ कर दोगुना हो गए हैं. 14 मई को दिल्ली के अस्पतालों में 1600 मरीज भर्ती थे और आज 2100 मरीज भर्ती हैं. 15 दिनों में 8500 मरीज बढ़ गए, लेकिन अस्पतालों में केवल 500 मरीज ही बढ़े हैं. Also Read - Coronavirus: क्‍या कोरोना को मामूली फ्लू की तरह मानते हुए यूरोप के नक्‍शेकदम पर चलेगी दुनिया? विशेषज्ञों का क्या है मानना...

केजरीवाल ने कहा, मोटे तौर पर कहना चाहता हूं कि जितने लोगों को कोरोना हो रहा है, उसमें ज्यादातर लोगों को कोई लक्षण नहीं दिख रहा है या उनको हल्की खांसी या बुखार के मामूली लक्षण हैं और वे अपने घर पर ही इलाज करा रहे हैं. 15 दिन में करीब 8500 केस बढ़े, लेकिन अस्पतालों में केवल 500 केस ही बढ़े हैं. इसलिए घबराने की जरूरत नहीं है. कोरोना केस इतने बढ़ने नहीं चाहिए और यह चिंता का विषय है. हम भी नहीं चाहते हैं कि केस बढ़े. कोरोना के अधिकतर मरीज अपने घर पर ही ठीक हो रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने अस्पतालों में बेड, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था की है.