नई दिल्ली: पूरी दुनिया फिलहाल कोरोना वायरस की समस्या से जूझ रही है. एक तरफ जहां दुनिया भर में हजारों लोगों की मौत हो चुकी है तो वहीं दूसरी तरफ कोरोना भारत में भी धीरे धीरे अपने पैर पसार रहा है. ऐसे में भारत सरकार व सभी राज्यों सरकारें कोरोना को लेकर हाई अलर्ट पर हैं. सभी राज्यों की सरकार कोरोना से निपटने के लिए तमाम तरह की योजनाओं पर काम कर रही हैं साथ ही सख्ती से फैसले भी ले रही हैं. महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं. ऐसे में महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना से लड़ने के लिए सख्त कदम उठाते हुए निर्देश भी जारी किया है. इस निर्देश में बताया गया है कि कोरोना पीड़ित लोग अगर क्वैरेंटाइन किए जाने के बाद इसका उल्लंघन करते हैं तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी.Also Read - Atal Bimit Vyakti Kalyan Scheme: बेरोजगारों को सरकार ने 3 महीने तक दिया पैसा, कोरोना काल में गई नौकरी तो 30 दिनों के अंदर करें दावा

Also Read - IIMC के महानिदेशक संजय द्विवेदी का बयान, बोले- कोरोना के खिलाफ जंग में मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने इस मामले पर सख्ती दिखाते हुए राज्य पुलिस को आदेश जारी किया है. उन्होंने पुलिस को साफ आदेश दिया है कि अगर कोई भी कोरोना पीड़ित क्वैरेंटाइन किए जाने के बाद इसका उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए. महाराष्ट्र में हाजी अली के दरगाह को भी अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है. यही नहीं मुंबई के डब्बावालों को भी अगले आदेश तक के लिए काम न करने को कहा गया है. Also Read - Coronavirus Cases in USA: अमेरिका में कोरोना के डेल्टा वेरिएंट का कहर, 1 दिन में 1 लाख से अधिक लोग संक्रमित

वही अगर पंजाब की बात करें तो पंजाब सरकार ने कोरोना से निपटने के लिए एक सख्त फैसला लिया है. पंजाब सरकार ने सभी सार्वजनिक वाहनों (Public Transport) पर रोक लगा दी है. यही नहीं अगर हरियाणा की बात करें तो कोरोना वायरस के संदेह में यहां 3632 लोगों को सर्विलांस पर रखा गया है. बड़ी संख्या में लोगों को घरों में अन्य लोगों से अलग-थलग रहने की सलाह दी गई है. हालांकि इनमें से केवल दो व्यक्तियों में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया है. हरियाणा सरकार के मुताबिक 3589 व्यक्ति अपने अपने घरों में घरों में आइसोलेशन की स्थिति में रह रहे हैं. इसके अलावा 43 लोगों को अभी तक विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.

हरियाणा में सबसे अधिक सतर्कता गुड़गांव में बरती जा रही है, जहां अभी तक कोरोनावायरस के 2 रोगी सामने आ चुके हैं. यहां सभी जिम, स्वीमिंग पूल, नाइट क्लब आदि बंद करवाए जा चुके हैं. इसके अलावा राज्य सरकार ने गुड़गांव में एक साथ 50 से अधिक लोगों के एकत्र होने पर भी रोक लगा दी है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा, “प्रदेश में आगामी 31 मार्च तक सिनेमा हॉल, स्कूल, जिम, स्विमिंग पूल, नाइट क्लब बंद रहेंगे. इसके अलावा सामाजिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक, शैक्षणिक, खेल प्रतियोगिता व पारिवारिक कार्यक्रमों में 200 से अधिक संख्या में लोगों के एकत्रित होने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.”