कोरोना संकट के बीच केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारिओं को बड़ा झटका दिया है. सरकार ने इस साल उन्हें महंगाई भत्ते की कोई नई किस्त नहीं देने का फैसला किया है. सरकार ने यह फैसला कोरोना संकट के मद्देनजर लिया है. वित्त मंत्रालय की ओर से जारी एक रिलीज में कहा गया है कि केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को मिलने वाले महंगाई भत्ते में इस साल कोई वृद्धि नहीं होगी. अब कर्मचारियों को जून 2020 तक डीए की कोई नई किस्त नहीं मिलेगी. इसमें यह भी स्पष्ट किया गया है कि जुलाई 2021 में जब डीए की नई किस्त घोषित की जाएगी तब कर्मचारियों को कोई एरियर नहीं मिलेगा. Also Read - मुश्किल वक्त में प्रवासी मजदूरों के साथ हर समय खड़ी है समाजवादी पार्टी, हर संभव करेंगे मदद : अखिलेश यादव


केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को एक जनवरी 2020 से महंगाई भत्ता देय था. इस बयान में यह भी कहा गया है कि एक जुलाई 2020 से दी जाने वाली महंगाई भत्ते की दूसरी किस्त भी इस साल नहीं मिलेगी. मंत्रालय ने साफ किया कि कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को मौजूदा समय में मिल रहा महंगाई भत्ता जारी रहेगा.

यह भारत सरकार के 1.13 करोड़ से अधिक कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए झटका है. पिछले माह सरकार ने अपने कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को 4 फीसदी महंगाई भत्ता देने को मंजूरी दी थी, लेकिन अब उसे भी रोक दिया गया है. मौजूदा समय में कर्मचारियों को उनके मूल वेतन का 17 फीसदी डीए मिल रहा है.