नई दिल्ली: दिल्ली में ऐसे मरीजों को कोविड केयर सेंटर जाना अनिवार्य नहीं होगा, जिनमें कोरोना वायरस के कम लक्षण या बिलकुल भी लक्षण नहीं होते हैं. दिल्ली के एलजी (उप राज्यपाल) ने ये फैसला लिया है. एलजी ने ही ये फैसला किया था कि अब सभी कोरोना मरीजों को 15 दिन तक क्वारंटाइन में रहने के लिए कोविड केयर सेंटर जाना ही होगा. Also Read - कोरोना: छत्तीसगढ़ में संक्रमण के 146 नए मामले आए सामने, कुछ ऐसा है इन इलाकों का हाल

इसे लेकर अरविन्द केजरीवाल ने आपत्ति दर्ज कराई थी और कहा था कि ऐसा करना दिल्ली वालों को 15 दिन की हिरासत में लिए जाने जैसा होगा. अरविन्द केजरीवाल ने कहा था कि ये फैसला दिल्ली वालों के लिए सही नहीं है. इसलिए इसे वापस लिया जाना चाहिए.

इसके आबाद आज दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल ने इस फैसले की समीक्षा करते हुए इसे बदल दिया. अनिल बैजल ने कहा कि अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर वही मरीज जाएंगे जो गंभीर होंगे. बता दें कि दिल्ली में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. अब तक दिल्ली में संक्रमितों की संख्या 70 हज़ार से ऊपर पहुँच गई है.