नई दिल्ली: दिल्ली में ऐसे मरीजों को कोविड केयर सेंटर जाना अनिवार्य नहीं होगा, जिनमें कोरोना वायरस के कम लक्षण या बिलकुल भी लक्षण नहीं होते हैं. दिल्ली के एलजी (उप राज्यपाल) ने ये फैसला लिया है. एलजी ने ही ये फैसला किया था कि अब सभी कोरोना मरीजों को 15 दिन तक क्वारंटाइन में रहने के लिए कोविड केयर सेंटर जाना ही होगा.Also Read - Corona: दिल्ली में पांच जून के बाद सबसे ज्यादा 45 लोगों की मौत, 24 घंटे में 11,486 नए केस

Also Read - Local Circles Survey: महाराष्ट्र में 24 जनवरी से बच्चों को स्कूल नहीं भेजना चाहते अधिकतर अभिभावक, सर्वे में कही ये बात

इसे लेकर अरविन्द केजरीवाल ने आपत्ति दर्ज कराई थी और कहा था कि ऐसा करना दिल्ली वालों को 15 दिन की हिरासत में लिए जाने जैसा होगा. अरविन्द केजरीवाल ने कहा था कि ये फैसला दिल्ली वालों के लिए सही नहीं है. इसलिए इसे वापस लिया जाना चाहिए. Also Read - Co-WIN ऐप में बड़ा बदलाव, Vaccine के लिए एक ही मोबाइल नंबर से 6 लोग कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन

इसके आबाद आज दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल ने इस फैसले की समीक्षा करते हुए इसे बदल दिया. अनिल बैजल ने कहा कि अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर वही मरीज जाएंगे जो गंभीर होंगे. बता दें कि दिल्ली में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. अब तक दिल्ली में संक्रमितों की संख्या 70 हज़ार से ऊपर पहुँच गई है.