नई दिल्ली: आज सुबह-सुबह झारखंड और कर्नाटक में भूकंप के जोरदार झटके महसूस किए गए. झारखंड का जमदेशपुर शहर भूकंप का केंद्र रहा. पिछले कई दिनों से देश के अलग अलग हिस्सों में आ रहे भूकंप के झटकों से लोग सहमें हुए हैं. जमशेदपुर में सुबह 6 बजकर 55 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए. वहीं दूसरी तरफ कर्नाटक के हम्मी में करीब सुबह सात बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए.Also Read - Automatic Cash Delivery: जब ATM से अचानक निकलने लगे 500-500 के नोट, चौंक गए सभी, जानिए- कहां का है मामला और क्यों हुआ ऐसा?

जमशेदपुर में भूकंप की तीव्रता रिएक्टर स्केल पर 4.7 नापी गई जबकि कर्नाटक के हम्मी में भूकंप की तीव्रता 4.0 रही. भूकंप के झटकों से लोगो में डर सा बैठ गया. जैसे ही लोगो ने भूकंप महसूस किया तुरंत घरों से बाहर निकल आए. फिलहार अभी तक इस भूकंप में किसी तरह के जान माल के नुकसान का मामला सामने नहीं आया है. Also Read - झारखंड में हजारों एकड़ बंजर जमीन हुई हरी-भरी, जानें कैसे हुआ ये कारनामा

Also Read - Earthquake: हैदराबाद में सुबह 5 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए, रिक्टर स्केल पर 4.0 रही तीव्रता

कर्नाटक और झारखंड में भूकंप के झटकों में एक बात की समानता रही कि दोनों ही राज्यों में ठीक 6 बजकर 55 मिनट पर ही धरती के हिलने को महसूस किया गया.

जहां एक ओर देश की जनता कोरोना वायरस से परेशान है वहीं पिछले डेढ़ महीने से कम समय में दस बार से अधिक भूकंप ने लोगों की चिंताएं बढ़ा दी है. दो दिन दिल्ली एनसीआर में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. लगातार आ रहे भूकंप के बारे में विशेषज्ञों का कहना है कि देखा जाए तो छोटे भूकंप थोड़ी राहत देने वाले हैं क्योंकि यह बड़े भूकंप के खतरे को काफी हद तक कम कर देते हैं. विशेषज्ञों का मानना है कि इस तरह के छोटे भूकंप से नुकसान नहीं होता लेकिन ये बड़े भूकंप को रोकते हैं.