नई दिल्ली: पूर्व भारतीय सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा है कि भारतीय सेना ने चीनी सेना के साथ गलवान घाटी में हुई झड़प में 40 चीनी सैनिकों को मार गिराया था. मौजूदा समय में मोदी सरकार में मंत्री जनरल वीके सिंह ने एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि भारतीय सेना ने 40 चीनी सैनिकों को मार गिराने के अलावा कई को बंधक भी बनाया था. उन्होंने कहा कि भारत ने पीएलए सैनिकों को बाद में छोड़ दिया था. Also Read - Lockdown in Bihar: नहीं रुक रहा कोरोना का प्रसार, बिहार में 16 से 31 जुलाई तक फिर लगेगा कंपलीट लॉकडाउन

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास भारतीय सैनिकों के साथ झड़प में सोमवार रात अनिर्दिष्ट संख्या (संख्या का सही अंदाजा नहीं) में चीनी सैनिकों की मौत हो गई. पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों की सेनाओं की बीच तनाव बना हुआ है और दोनों पक्षों की सेनाएं मई महीने से ही आमने-सामने हैं. Also Read - देश में कोरोना के मामले 9 लाख के पार, एक दिन में आए 28,498 नए केस

हालांकि चीन ने उसके सैनिकों के हताहत होने के बारे में चुप्पी साध रखी है, मगर सत्तारूढ़ चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) के आधिकारिक अखबार पीपुल्स डेली द्वारा प्रकाशित ग्लोबल टाइम्स ने स्वीकार किया कि पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के सैनिक भी मारे गए हैं. Also Read - पूर्वी लद्दाख विवाद: भारत-चीन के आर्मी कमांडरों के बीच आज चुशुल में हाईलेविल मीटिंग