नई दिल्ली: गलवान घाटी में तीन नहीं बल्कि कम से कम 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए हैं. समाचार एजेंसी एएनआई ने सरकार के सूत्रों के हवाले से ये बड़ी खबर दी है. बता दें कि लद्दाख क्षेत्र की गलवान घाटी में चीन और भारत की सेना के बीच संघर्ष हुआ था. पहले कहा गया था कि तीन लोग शहीद हुए थे, लेकिन अब दावा किया जा रहा है कि कम से कम 20 सैनिक शहीद हुए हैं. Also Read - India-China Border Issue: NSA अजित डोभाल ने संभाला मोर्चा तो पीछे हटी चीनी सेना! कल चीन के विदेश मंत्री से की थी बात

वहीं, कुछ अन्य समाचार एजेंसियों ने भी ऐसा ही दावा किया है. इसके अनुसार घाटी में 10 से लेकर 20 सैनिक शहीद हुए हैं. कई सैनिकों के घायल होने की भी खबर है. इसके साथ ही एक और बड़ी बात ये भी बताई जा रही है कि चीन के भी कम से कम 43 सैनिक मारे गए हैं. एलएसी पर शव लेने के लिए चीनी हेलीकॉप्टरों की हलचल की भी खबर है. पिछले 45 वर्षों में इस तरह की यह पहली घटना है और यह संवेदनशील क्षेत्र में पिछले पांच हफ्ते से चल रहे व्यापक तनाव का संकेत देती है. Also Read - भारत में कोविड-19 जांचों की संख्या एक करोड़ के पार, चीन से बहुत पीछे

बता दें कि चीन की सेना ने मंगलवार को आरोप लगाया था कि गलवान घाटी क्षेत्र में भारतीय सैनिकों ने फिर से वास्तविक नियंत्रण रेखा को पार किया और ‘‘जानबूझकर उकसाने वाले हमले किए’’ जिस कारण ‘‘गंभीर संघर्ष हुआ और सैनिक हताहत हुए.’’ चीन के इस बयान को खारिज करते हुए भारत ने कहा आज ही कहा है कि चीन के एकतरफा प्रयास के चलते हिंसक झड़प हुई. भारत ने मंगलवार को कहा कि पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेनाओं के बीच हिंसक झड़प क्षेत्र में ‘‘यथास्थिति को एकतरफा तरीके से बदलने के चीनी पक्ष के प्रयास’’ के कारण हुई.