नई दिल्‍ली: भारतीय सेना (Indian Army) ने जम्‍मू-कश्‍मीर में आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के एक जिला कमांडर मार गिराया है. सुरक्षा बलों ने आतंकवाद के खिलाफ चल रही मुहिम के तहत डोडा जिले में हिजबुल मुजाहिदीन (Hizbul Mujahideen) के डिस्ट्रिक्‍ट कमांडर (District Commander) को मार गिराया है. सुरक्षाबलों ने बीते 5 दिनों में 5 से ज्‍यादा आतंकवादी मार गिराए हैं. एक आतंकवादी बडगाम जिले में 13 जनवरी को मारा गया था और 12 जनवरी को हिजबुल मुजाहिदीन के तीन सर्वाधिक वांछित आतंकवादी मारे गए थे. Also Read - Indian Army to Get 556 ARHMD: भारतीय सेना होगी और मजबूत, मिलने जा रहा ये खास उपकरण

हारुन हाफाज किश्तवाड़ में राजनीतिक कार्यकर्ताओं की हत्या और हथियार छीनने सहित कई आतंकवादी घटनाओं में वांछित था. वह ओसामा जावेद, हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर किश्तवाड़ का सहयोगी था, जिसे पुलिस और सुरक्षा बलों ने रामबन में मार दिया था. Also Read - Jammu & Kashmir: Anantnag में Encounter में 4 आतंकी ढेर, मुठभेड़ जारी

बता दें कि सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर के बडगाम जिले में सोमवार को मुठभेड़ में एक स्‍थानीय आतंकवादी को मार गिराया था. मारे गए आतंकवादी की पहचान बडगाम के रहने वाले आदिल अहमद के रूप में हुई थी. इससे पहले बीते 12 जनवरी को भी सुरक्षा बलों ने पुलवामा जिले के त्राल में हिजबुल मुजाहिदीन के तीन सर्वाधिक वांछित आतंकवादियों को मार गिराया था. Also Read - Indian Army Recruitment Rally 2021: भारतीय सेना में 10वीं, 12वीं पास के लिए आवेदन करने की कल है आखिरी डेट, इस डायरेक्ट लिंक से करें अप्लाई

पुलिस के एक प्रवक्ता के मुताबिक, आतंकवादी- सीर गांव के उमर फयाज लोन उर्फ हमद खान, मंदूरा के फैजान हामिद और मोनघामा के आदिल बशीर मीर उर्फ अबु दुजाना- आतंक अपराधों में उनकी मिलीभगत के लिए वांछित थे. इन अपराधों में सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमले और आम नागरिकों पर अत्याचार शामिल हैं.

पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक, उमर फयाज लोन उर्फ हमद खान का 2016 के बाद से आतंक अपराधों को अंजाम देने का लंबा इतिहास रहा है और वह इलाके में कई आतंकी हमलों की साजिश रचने और उन्हें अंजाम देने में शामिल था.