CoronaVirus outbreak Live: दिल्ली पुलिस ने कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर 31 मार्च की मध्यरात्रि तक निषेधाज्ञा आदेश लागू करने की रविवार को घोषणा की. इसके साथ ही शहर में विरोध प्रदर्शन और अन्य सभाओं पर रोक लग गई है. दिल्ली पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव द्वारा जारी आदेश 22 मार्च की रात नौ बजे से प्रभावी होगा जो इस महीने की 31 तारीख तक लागू रहेगा. Also Read - कोरोना से जंग: विराट से लेकर सचिन तक, खेल जगत के इन दिग्गजों ने जलाई मोमबत्ती और दीपक, देखिए तस्वीरें

निषेधाज्ञा आदेशों के अनुसार किसी भी तरह के प्रदर्शन, जुलूस के लिए लोगों के एकत्र होने पर प्रतिबंध रहेगा. कोई भी सभा- सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक, धार्मिक, शैक्षणिक, खेल, संगोष्ठी या सम्मेलन के आयोजन पर प्रतिबंध है. Also Read - कोविद-19 : नीति आयोग ने संयुक्त राष्ट्र की एजेंसियों और निजी क्षेत्र से मांगी मदद

केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के मद्देनजर राज्य सरकारों से उन 75 जिलों में केवल आवश्यक सेवाओं का ही परिचालन किये जाने का आदेश जारी करने को कहा है जहां कोविड-19 के पुष्ट मामले सामने आए या जहां इससे लोगों की मृत्यु हुई है. अधिकारियों ने कहा कि अंतर राज्यीय बस सेवाएं भी 31 मार्च तक बंद रखने का फैसला किया गया है. इसके अलावा 31 मार्च तक दिल्ली मेट्रो समेत सभी मेट्रो सेवाओं को भी स्थगित करने का फैसला किया गया है.

इस आशय का निर्णय आज सुबह कैबिनेट सचिव एवं प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव के साथ सभी राज्यों के मुख्य सचिवों की बैठक में लिया गया. सरकारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, बैठक में कोरोना वायरस के मद्देनजर 31 मार्च 2020 तक उपनगरीय रेल सेवाओं सहित सभी ट्रेन सेवाओं को स्थगित करने का निर्णय किया है. हालांकि, मालगाड़ियों को इससे अलग रखा गया है. इसके अलावा 31 मार्च तक सभी मेट्रो सेवाओं को स्थगित करने का भी निर्णय किया गया.

इसमें कहा गया है कि राज्य सरकारों से उन 75 जिलों में केवल आवश्यक सेवाओं का ही परिचालन किये जाने का आदेश जारी करने को कहा है जहां कोविड-19 के पुष्ट मामले सामने आए हैं या जहां इससे लोगों की मृत्यु हुई है.

बैठक में विस्तृत चर्चा के बाद राज्य सरकारों को सुझाव दिया गया है कि वे उन 75 जिलों में केवल आवश्यक सेवाओं का ही परिचालन किये जाने के संबंध में उपयुक्त आदेश जारी करें जहां जहां कोविड-19 के पुष्ट मामले सामने आए हैं. राज्य सरकारें समीक्षा के बाद इस सूची को बढ़ा भी सकते हैं .

बैठक में यह भी निर्णय किया गया कि 31 मार्च 2020 तक सभी यात्री परिवहन सेवाएं स्थगित रहेंगी. इसमें यह तय किया गया कि गैर जरूरी यात्री परिवहन गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाया जाए.

जिन जिलों में लॉकहाउन की घोषणा की गई है, वे उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, तमिलनाडु और केरल जैसे राज्यों में शामिल हैं. यह उल्लेख किया गया कि कई राज्य सरकारों ने पहले ही इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं. सभी मुख्य सचिवों ने बताया कि प्रधानमंत्री के जनता कर्फ्यू के आह्वान पर जबर्दस्त एवं स्वत: स्फूर्त प्रतिक्रिया मिल रही है.