श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा के राजवार इलाके में आज जहां मुठभेड़ हुई वहां हुए विस्फोट में कम से कम सात नागरिक घायल हो गए हैं. घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बता दें कि उत्तरी कश्मीर के इसी इलाके में हंदवाड़ा क्षेत्र के एक गांव में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में एक कर्नल और एक मेजर समेत पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए तथा दो आतंकवादी भी मारे गए थे. Also Read - Earthquake in Delhi: दिल्ली में भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 4.6 मापी गई तीव्रता

आज हुए इस विस्फोट के बारे में एक स्थानीय निवासी ने बताया, “हम नाली में से कचरा साफ कर रहे थे. पता नहीं उसमें क्या था शायद ग्रेनेड था जो फट गया और सात-आठ लोग ज़ख्मी हो गए. सबको हंदवाड़ा लाया गया है. हम में से दो सीरियस हैं जिन्हें श्रीनगर रेफर किया गया है.” Also Read - कोरोना संक्रमण के चलते जाने माने ज्योतिषी बेजान दारूवाला का 90 साल की उम्र में निधन

हंदवाड़ा अस्पताल के डिप्टी सुपरिटेंडेंट डॉ. एजज़ ने बताया, “ये एक ब्लास्ट इंजरी है जो राजवार के इलाके में हुई. हम दो बच्चों को श्रीनगर रेफर कर रहे हैं. एक के पांव में इंजरी है और एक के पेट में बाकि तीन स्थिर हैं.” Also Read - 3,840 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें में करीब 52 लाख लोगों ने की यात्रा; ट्रेन के 9 दिन देरी से पहुंचने की खबर को रेलवे ने बताया फर्जी

इससे पहले पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने रविवार को कहा, ‘‘यह सूचित करते हुए दुख हो रहा है कि कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज सूद और जम्मू कश्मीर पुलिस के उपनिरीक्षक शकील काजी समेत पांच बहादुर सुरक्षाकर्मी कर्तव्य पालन करते हुए शहीद हो गए.’’ उन्होंने बताया कि कर्नल और उनकी टीम ने आतंकवादियों द्वारा बंधक बनाए गए नागरिकों को बहादुरी से मुक्त करा लिया. मुठभेड़ में दो आतंकवादी भी मारे गए.

सेना ने बताया कि कुपवाड़ा जिले में हंदवाड़ा के चंगीमुल्ला इलाके में एक मकान में आतंकवादियों द्वारा कुछ नागरिकों को बंधक बनाए जाने की खुफिया सूचना मिलने के बाद सेना तथा जम्मू कश्मीर पुलिस ने एक संयुक्त अभियान चलाया था. इसने बताया कि पांच सैन्य और पुलिस कर्मियों की टीम नागरिकों को छुड़ाने के लिए आतंकवादियों के कब्जे वाले इलाके में घुसी और नागरिकों को सफलतापूर्वक बचा लिया.