Lockdown 2.0: कोरोना वायरस के कारण देश में दूसरे चरण का लॉकडाउन चल रहा है. 3 मई को इसकी अवधि पूरी होगी. अब ऐसे में हर कोई यही जानने को उत्सुक है कि 3 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ेगा या नहीं. Also Read - लॉकडाउन बढ़ने की बात सुन महिला ने खाया ज़हर, ससुराल से मायके न जा पाने से थी परेशान

इस विषय पर विशेषज्ञों की राय और देश की मौजूदा स्थिति का काफी फर्क पड़ता है. देश में कोरोना के असर की बात की जाए तो मौजूदा आंकड़ा 35 हजार को पार कर चुका है. ऐसे में मोदी सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती यही है कि किस तरह से संक्रमण को इसी स्टेज पर रोककर रखा जाए, ये कम्युनिटी स्प्रेड में ना पहुंचे. Also Read - यूपी में 8 जून से खोले जाएंगे धार्मिक स्थल, होटल, रेस्तरां और शॉपिंग मॉल; जुलाई में खुलेंगे स्कूल

जहां तक केंद्र सरकार की बात है तो सरकार से मिल रहे संकेतों से स्पष्ट है कि देशव्यापी लॉकडाउन को और ज्यादा रियायतों के साथ बढ़ाया जा सकता है. इसकी एक वजह ये भी है कि मेडिकल एक्सपर्ट्स कह रहे हैं कि मई का महीना भारत के लिए, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बेहद महत्वपूर्ण है. हर कदम फूंक-फूंककर रखना होगा. Also Read - आर्थिक गतिविधियों को बंद करने से पहले रूपरेखा तैयार करके समीक्षा करनी चाहिए थी : यामाहा

अब इस सवाल पर केवल आम जन परेशान नहीं है कि लॉकडाउन बढ़ेगा या नहीं और बढ़ेगा तो भी कब तक. इस पर पीएम मोदी खुद बैठक कर रहे हैं. आज भी उन्होंने लॉकडाउन को लेकर अहम बैठक की.

सूत्रों के अनुसार इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, रेल मंत्री पीयूष गोयल, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आदि सभी मंत्री मौजूद थे. खबर है कि बैठक में मोदी ने मंत्रियों संग लॉकडाउन के दूसरे चरण की समीक्षा की.