नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी तथा इसकी रोकथाम के लिये देश भर में लागू लॉकडाउन की मार से अर्थव्यवस्था को उबारने के 20 लाख करोड़ रुपये के प्रोत्साहन पैकेज की पांचवीं किस्त की रविवार को घोषणा की गई. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पांचवीं किस्त में चौथी किस्त के सुधारों को और आगे बढ़ाया. पांचवीं किस्त में वित्त मंत्री द्वारा सुझाए गए उपायों की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खूब तारीफ की है. प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि इन उपायों से गाँव की अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने में मदद मिलेगी. Also Read - महाराष्ट्र में कोरोना से एक दिन में रिकॉर्ड 139 लोगों की मौत, 80 हजार के पार पहुंची संक्रमितों की संख्या

सरकार ने कोविड-19 संकट के बीच उद्योग को राहत के लिए कर्ज चूक के नए मामलों में दिवाला कार्रवाई पर एक साल के लिए रोक लगा दी है. इसके अलावा अपने घरों को लौट रहे प्रवासी मजदूरों को रोजगार के लिए मनरेगा के तहत 40,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त आवंटन किया गया है. Also Read - ममता का मोदी सरकार पर निशाना, कहा- हम जान बचाने के लिए काम कर रहे हैं, कुछ लोग हमें हटाने के लिए

इन उपायों के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा- “आज वित्त मंत्री द्वारा घोषित किए गए उपायों और सुधारों का हमारे स्वास्थ्य और शिक्षा क्षेत्रों पर परिवर्तनकारी प्रभाव पड़ेगा. वे उद्यमिता को बढ़ावा देंगे, सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों की मदद करेंगे और गाँव की अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करेंगे. राज्यों के सुधार प्रक्षेपवक्र को भी गति मिलेगी.” Also Read - सुप्रीम कोर्ट ने कहा, प्रवासियों को घर भेजने के लिए 15 दिन काफी, सभी के लिए रोजगार का सृजन करें राज्य

बता दें कि इसके साथ ही सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों के लिए नई नीति लाने की घोषणा की है. इसके तहत गैर-रणनीतिक क्षेत्र के सार्वजनिक उपक्रमों का निजीकरण किया जाएगा. वहीं चिह्नित रणनीतिक क्षेत्रों में चार से अधिक कंपनियों को परिचालन की अनुमति नहीं होगी. इस सीमा से अधिक कंपनियों होने पर उनका आपस में विलय किया जाएगा.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने रविवार को आर्थिक पैकेज की पांचवीं किस्त की घोषणा करते हए कहा कि कोरोना वायरस की वजह से अपने राज्यों को लौटे श्रमिकों को रोजगार के लिए मनरेगा के तहत 40,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त आवंटन किया गया है. यह बजट में आवंटित 61,000 करोड़ रुपये की राशि के अतिरिक्त है.

(इनपुट भाषा)